इन दिनों बॉलीवुड में एक ही बात हर ओर छायी हुई है, वो है दंगल गर्ल ज़ायरा वसीम के बॉलीवुड छोड़ने की बातें। बॉलीवुड के लोग एक ओर तो ये कह रहे हैं कि ये ज़ायरा का निजी फ़ैसला है वहीं वो ये भी कह रहे हैं कि बॉलीवुड में काम को धर्म के ख़िलाफ़ बताना सही नहीं है। जैसा कि आप जानते ही होंगें कि ज़ायरा वसीम ने हाल ही में अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स में एक बयान जारी करते हुए कहा कि वो बॉलीवुड को छोड़ रही हैं क्योंकि यहाँ काम करते हुए वो अपने धर्म और ईमान से दूर हो रही हैं।

ज़ायरा ने आगे कहा कि 5 साल में बॉलीवुड से उन्हें ढेर सारी प्रसिद्धि और लोगों का प्यारा तो मिला पर वो भले ही यहाँ फ़िट भी हो रही थीं लेकिन वो इस जगह की नहीं हैं। उन्हें लगता है कि बॉलीवुड में रहते हुए वो अज्ञानता के पथ पर चलने लगी थीं और इस तरह वो अपने धर्म से अलग हो रही थीं। ज़ायरा ने कहा कि उन्हें ऐसा लगता है कि वो अब तक कोई और बनने की कोशिश कर रही थीं। बस इसलिए उन्होंने यहाँ से जाने का फ़ैसला किया।

ज़ायरा के इस बयान के बाद से अधिकांश लोग ये अंदाज़ा लगाने लगे कि ज़ायरा पर किसी तरह का धार्मिक दबाव है। यही नहीं रवीना टंडन ने तो बड़े सख़्त अन्दाज़ में ज़ायरा के लिए कहा कि वो यहाँ से जाना चाहें तो जाएँ लेकिन अपने पिछड़े विचारों को यहाँ न फैलाएँ। अनुपम खेर ने ज़ायरा पर किसी तरह के धार्मिक दबाव की बात की।

वहीं बॉलीवुड से नाराज़ तनुश्री ने ज़ायरा का समर्थन किया है और कहा कि उन्हें ज़ायरा में एक भावी धर्म गुरु नज़र आता है। जहाँ ये सारी बातें चल रही हैं वहीं ज़ायरा ने अपनी अगली और आख़िरी फ़िल्म के प्रमोशन के लिए भी मेकर्स से मना कर दिया है। इस फ़िल्म में ज़ायरा ने प्रियंका चोपड़ा, फ़रहान अख़्तर जैसे कलाकारों के साथ काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *