मुम्बई: जब से बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री और समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने राज्यसभा में बयान दिया है तब से ही कँगना रानौत और उनकी टीम के लोग जया बच्चन के साथ-साथ उनके परिवार पर भी टिपण्णी कर रहे हैं. बातें कुछ इस तरह की हो रही हैं जो सभ्य समाज में बिलकुल नहीं बोली जाती हैं लेकिन कँगना और उनकी टीम को शायद अब इस सब से कोई फ़र्क़ ही नहीं पड़ता.

कँगना की लगातार पोस्ट्स पर अब बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री उर्मिला मांतोडकर ने अपना पक्ष रखा है. उर्मिला ने कँगना के उस ट्वीट पर निशाना साधा जिसमें उन्होंने दावा किया कि उन्होंने बॉलीवुड को फ़ेमिनिज्म सिखाया. उनके इस ट्वीट पर उर्मिला ने कहा,”जब कंगना का जन्म भी नहीं हुआ था तब से ही जया बच्चन ने फ़ेमिनिज्म पर आधारित फिल्में की हैं, जिसमें ‘गुड्डी’ जैसी फिल्में शामिल हैं.”कँगना ने एक ट्वीट में कहा था,”कौन सी थाली दी है जया जी और उनकी इंडस्ट्री ने? एक थाली मिली थी जिसमें दो मिनट के रोल आइटम नम्बर्ज़ और एक रोमांटिक सीन मिलता था वो भी हेरो के साथ सोने के बाद,मैंने इस इंडस्ट्री को फ़ेमिनिज़म सीखाया,थाली देश भक्ति नारीप्रधान फ़िल्मों से सजाई,यह मेरी अपनी थाली है जया जी आपकी नहीं।”

उर्मिला ने साथ ही ये भी कहा,”मैं हाथ जोड़कर सवाल पूछना चाहती हूँ कि क्या जया जी ने व्यक्तिगत तौर पर टिप्पणी की है जो वह लगातार उनपर ट्वीट पर ट्वीट करती जा रही हैं. उनके बच्चों और परिवार पर सवाल उठा रही हैं.” उर्मिला मांतोडकर ने साथ ही इस बात की ओर भी इशारा किया कि कँगना अगर ड्र’ग्स से लड़ने की बात कर रही हैं तो उन्हें इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि हिमाचल प्रदेश में ड्र’ग्स का कारोबार धड़ल्ले से होता है.

दिलचस्प बात ये भी है कि कँगना रानौत बार-बार ये बात कहती हैं कि उन्होंने देशभक्ति की फ़िल्में की हैं जबकि उन्होंने बस इक्का-दुक्का ही ऐसी फ़िल्में की हैं जबकि बहुत सारे ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने उनसे कहीं ज़्यादा फ़िल्में इस विषय पर की हैं. शाहरुख़ ख़ान, फ़रहान अख्तर, करीना कपूर, काजोल, सोनाक्षी सिन्हा, सलमान ख़ान, संजय दत्त, सुनील शेट्टी, आलिया भट्ट जैसे कलाकारों ने लगातार देशभक्ति से जुड़ी फ़िल्मों में काम किया है. ये बात ठीक है कि कँगना ने देशभक्ति की फ़िल्मों में भी काम किया है लेकिन बाक़ी सब ने भी किया है. कुल मिलाकर अब कँगना के पास इस बहस में कुछ बचा ही नहीं है, इसलिए वो ऐसी बातें कह रही हैं.