ऋषि कपूर के जा’ने के बा’द से एक भी दिन ऐसा नहीं गया है जब ऋषि कपूर को याद करने वाले उन्हें याद न करें। उनका कोई न कोई क़री’बी या दोस्त उन्हें याद करके कोई न कोई बात बता रहा है जिससे लगता है कि ऋषि कपूर कितने साफ़ दिल थे। ये बात तो सच ही है कि ऋषि कपूर के जो दिल में होता था वही वो कहने से हि’चकते नहीं थे। उनके ट्विटर अकाउंट के ज़’रिए उन्होंने ऐसे कितने ही ट्वीट्स किए जैसा और कोई भी फ़िल्म स्टार करने से पी’छे ह’ट सकता है। वहीं उनके ब’यान भी इतने खु’ले होते थे कि वो व्यक्ति का नाम लेकर उस पर अपनी रा’य दे दिया करते थे।

शायद यही कार’ण था कि ऋषि कपूर ने कई ऐसी बातें कहीं जो उनके जीवन के आ’ख़िरी प’लों में सच होती हुई लगती हैं। ऐसा लगता है मानो ऋषि कपूर को पहले से ही पता था कि उनकी ज़िंदगी के ख़’त्म होने के बाद क्या-क्या होगा। ये बात 28 अप्रैल 2017 की है जब ऋषि कपूर अपने दोस्त विनोद खन्ना की अं’तिम यात्रा में शा’मिल होकर आए थे। ऋषि कपूर ने देखा कि ज़्या’दातर फ़िल्म इंडस्ट्री के लोग वहाँ नहीं आए और विनोद खन्ना की अं’तिम यात्रा में शा’मिल भी नहीं हुए इस बात को देखते ही उन्हें बहुत बु’रा लगा था। उन्होंने फ़िल्म इंडस्ट्री के लोगों को ता’ना देते हुए एक ट्वीट किया था। ये ट्वीट उनकी मृ’त्यु के बा’द सच हो गया।

Rishi Kapoor
ऋषि कपूर ने ट्वीट किया था कि “यही क्यों? इसमें मैं और मेरे बा’द के लोग भी शा’मिल हैं। जब मैं म’रूँगा, मुझे तै’यार रहना चाहिए कि कोई भी मुझे क’न्धा देने वाला नहीं होगा। आज के इन तथाक’थित सितारों से में बहुत ज़्यादा ग़ु’स्सा हूँ”। ऋषि कपूर का ये ट्वीट भी वाय’रल हुआ था और कह सकते है कि तीन साल बाद विनोद खन्ना की पु’ण्यति’थि के दो दिन बा’द 30 अप्रैल 2020 को ऋषि कपूर भी इस दुनिया से च’ले गए। उनकी कही बात सच्ची हुई परिवा’र के सदस्यों के अला’वा फ़िल्म इंड’स्ट्री से कोई भी नहीं आया। ये अल’ग बात है कि कोरो’ना संक्र’मण न होता तो शायद कुछ लोग न’ज़र आते पर जो बात ऋषि कपूर ने मह’सूस की थी वो शायद यहाँ भी स’च होती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *