सुशांत सिंह राजपूत सुसा’इड माम’ले में सीबीआई ने पू’छताछ और जां’च तेज़ कर दी है। शनिवार की रोज़ सीबीआई ने सुशांत के रूममेट और कुक से लंबी पू’छताछ की थी। इसके बाद सीबीआई टीम ने फरें’सिक एक्स’पर्ट्स के साथ सुशांत के बांद्रा स्थिति अपार्टमेंट पहुंचकर सीन री’क्रिएट किया और ड’मी टेस्ट भी किया। इसके साथ ही सीबीआई की एक अन्य टीम ने मुंबई के राजकीय कूपर अस्प’ताल जाकर भी पू’छताछ की थी। इसी बीच सुशांत की पो’स्टमा’र्टम रिपोर्ट की एक और बात साम’ने आई है, जिसे लेकर पहले ही कई सवाल ख’ड़े किए जा रहे हैं।

7 पेज की इस पो’स्ट मा’र्टम रिपोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त की वजह फां’सी से दम घु’टना बताया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी ग’र्दन पर 33 सेंटीमीटर के गह’रे निशा’न थे और उनकी जुबान भी अंदर थी। इसके अलावा उनके दांत भी ठीक थे और बॉडी पर भी कोई चो’ट का नि’शान नहीं था और कोई भी हड्डी टू’टी हुई नहीं थी। इसके साथ ही रिपोर्ट में और भी जानकारी दी गई थी लेकिन इसमें मौ’त का वक़्त दर्ज नहीं किया गया था। ऐसे में और सवाल ख’ड़े किए जा रहे हैं। इस संबं’ध में सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने सवाल उठाया है कि फोरें’सिक रिपोर्ट में मौ’त का टाइम दर्ज क्यूं नहीं है?
Sushant’s Post martem report[/caption]
उन्होंने कहा कि यह रिपोर्ट का मेन प्वाइंट होता है। इसके साथ ही वकील का दावा है कि सुशांत ने मौ’त से पहले जूस और नारियल पानी भी पिया था, लेकिन रिपोर्ट में इसका भी ज़िक्र नहीं किया गया है। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने यह भी कहा कि सुशांत के रूम में टेबल या ऐसी कोई चीज़ ही नहीं थी तो उन्होंने सुसा’इड कैसे कर ली। जहां एक तरफ वकील विकास सिंह ने इस रिपोर्ट पर कई सवाल ख’ड़े किए हैं तो वहीं दूसरी ओर सीबीआई इस रिपोर्ट से संबं’धित जां’च कर रही है और हर सवाल का जवाब पता लगाने की कोशिशों में लगी हुई है।