नई दिल्ली: लम्बे समय से मी’डिया का एक वर्ग सुशांत सिंह राजपूत का मा’मला उ’ठा रहा है. ये मा’मला शुरू में सु’साइड का लग रहा था लेकिन मी’डिया के एक समूह ने कई नए तरह की बातें ग’ढ़ दीं जिसके बाद लोगों में सं’देह पै’दा हुआ. हालाँकि अब सूत्र बता रहे हैं कि एम्स के पै’नल ने साफ़ कर दिया है कि ए’क्टर की मौ’त ख़ु’दकु’शी की वजह से हुई थी. सूत्रों के मुता’बिक़ पैनल ने अभिनेता के परिवार और उनके वकीलों की उस थ्योरी को ख़ा’रिज कर दिया है जिसमें कहा गया था कि उन्हें ज़ह’र दिया गया या ग’ला द’बाकर मा’रा गया.

34 वर्षीय फिल्म स्टार की 14 जून को मौ’त हो गई थी. उनका श’व उनके मुम्बई स्थित आवास में पाया गया था. मुंबई पु’लिस ने श’व परी’क्षण के आधार पर इसे आ’त्मह’त्या का मामला क’रार दिया था लेकिन सोशल मी’डिया पर लगे आरो’पों, सुशांत को न्या’य दि’लाने के लिए चलाए गए अभिया’नों और राजपूत परिवार के सं’देह के आ’रोपों के बाद ये मामला सीबी’आई को सौं’प दिया गया. एक सम्मा’नित समाचार चैनल ने दा’वा किया है कि एम्स ने अपनी जाँ’च पूरी कर ली है.

इस चैनल ने बताया है कि सीबीआई को अपनी रि’पोर्ट और क़ा’नूनी सलाह देने के बाद फा’इल बंद कर दी गई है. अब सीबीआई उस रिपोर्ट के साथ अपनी जांच की क’ड़ियों को जोड़ रही है. सूत्रों ने जानका’री दी कि अब सीबीआई अभिनेता की मौ’त का एं’गल आ’त्मह’त्या पर रख सकती है और उसके मुताबिक़ आगे जांच कर सकती है. मुंबई पुलि’स ने भी मूल रूप से इसे आत्मह’त्या का के’स ही मानकर जांच शुरू की थी.आपको बता दें कि पिछले कुछ महीनों में मीडिया ट्रायल और सोशल मीडिया ट्रो’लिंग इस क़दर बे-तमीज़ी से हुई कि कोई अगर ये कह देता कि सुशांत ने सु’साइड की है तो उसको ज़’लील करने की हर कोशिश की जाती. एम्स पैनल की रिपोर्ट इन मीडिया हाउसेस के मुँह पर एक तमाचे की तरह है.