एक अंग्रेज़ी कहावत है ‘डों’ट जज अ बुक बाय इट्स कवर’ यानी किसी भी चीज़ को उसके बाहरी लु’क से नहीं आंक’ना चाहिए। इसी तरह किसी भी व्यक्ति को उसके रंग, रूप, जाति आदि से जज नहीं करना चाहिए। बाहरी दिखावा आदमी का चरित्र और उसके स्व’भाव को नहीं दर्शा’ता। आदमी का चरि’त्र और उसकी असल पहचान तो मुसी’बत के समय में ही पता लगती है। ऐसे ही इस कोरो’ना का’ल में हमारे साम’ने कई उदाहर’ण आए जहाँ लोगों को रियल और रील लाइ’फ हीरो में फ’र्क पता चला। इसी में से एक उदाहर’ण है बॉलीवुड में ख’लनायक का किरदा’र निभाने वाले सोनू सूद की।

सोनू ने इस कोरो’ना काल में साबित कर दिया कि असली हीरो वह होता है जो रियल लाइफ में लोगों के काम आए। कोरो’ना के शुरुआती दिनों से ही सोनू सूद गरी’बों और जरूरतमं’दों की म’दद कर रहे हैं। पहले बसें किराए पर लेकर प्रवासी मज़दूरों को उनके घर पहुंचाया, इसके बाद बाढ़ से तबा’ह हुए बिहा’र और आसाम के लोगों की म’दद की। अब वह स्टूडें’ट्स की भी हे’ल्प कर रहे हैं इतना ही नहीं बल्कि लोग ट्विटर पर ट्वीट कर के भी सोनू सूद से मदद मां’ग रहे हैं। सोनू को म’दद माँगने के लिए और धन्यवाद देने के लिए तो ट्वीट्स आते ही हैं साथ ही कई मज़ेदार ट्वीट्स भी आते हैं। सोनू इन ट्वीट्स का जवाब भी देते हैं और खूब हंसी मज़ाक करते हैं।

Sonu Sood
एक यूजर ने ट्वीट किया “जैसे पिछले कुछ महीनों से सोनू सूद लोगों की म’दद कर रहे हैं, मुझे लगता है अब उनको महामा’री कोरो’ना वाय’रस की वै’क्सीन बनाने की ज़िम्मेदारी भी उठा लेनी चाहिए।” जिस पर सोनू म’जाकिया अंदाज में कहते हैं कि “आप नहीं जा’नते..” ऐसे ही दूसरे यूजर लिखते हैं कि “सर एप्पल आईफोन चाहिए…मैंने आपको 20 बार ट्वीट किया है।” यूजर के इस ट्वीट का रिप्लाई करते हुए सोनू ने लिखा, “मुझे भी एक फोन चाहिए…इसके लिए मैं तुम्हें 21 बार ट्वीट कर सकता हूँ।” यही नहीं बल्कि एक यूजर ने तो ट्वीट कर सोनू के साम’ने अपना सपना ही ज़ा’हिर कर दिया। वैशाली नाम की एक ल’ड़की ने ट्वीट किया कि “सर आप सबकी हे’ल्प करते हो मेरी भी कर दो। मेरा सपना आपके साथ सेल्फी लेना है।” सोनू इसपर हा’र्ट वाली इमोजी के साथ लिखा “जल्द ही”,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *