शाहरुख़ खा’न के घर के हर सदस्य को उनके फ़ैन्स काफ़ी अच्छी तरह से जा’नते हैं। सभी को एक अलग लाइम लाइट भी मिलती है लेकिन एक ऐसी सदस्य भी शाहरुख़ के घर में रहती हैं जो इन सारी चकाचौं’ध से दू’र रहती हैं। ये और कोई नहीं बल्कि शाहरुख़ की बहन हैं। शाहरुख़ की बहन शहना’ज़ की ज़िंदगी में एक बड़ा तू’फ़ान आया था जिसके बाद से वो काफ़ी दिनों तक परे’शानी से जू’झती रहीं।

शहना’ज़ के बारे में बताते हुए शाहरुख़ ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि किस तरह उनकी बहन के जीवन में उथ’ल- पुथ’ल की शुरुआत हुई। उस समय शाहरुख़ 15 साल के थे जब उन्हें पता चला कि उनके पिता को कैं’सर हो गया है। उस समय तक कैंसर का नाम आम नहीं था। शाहरुख़ को लगा कि उनके पिता भी कैं’सर से ठीक होकर जल्द से जल्द घर आ जाएँगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

ये बात पता चलने के तीन महीने बाद ही उनके पिता की मौ’त हो गयी। जब पिता की मौ’त हुई और उन्हें घर लाया गया उस समय शहना’ज़ घर पर नहीं थी। वो बाहर से आयी और पिता के पा’र्थिव शरीर को देखा तो ख’ड़ी रह गयीं। न वो रोयीं, न कुछ कहा बस खड़ी रहीं और अचा’नक गि’र गयीं उनका सिर ज़’मीन से ज़ो’र का ट’कराया।

दो साल तक वो न कुछ बोलीं न रोयीं बस एक टक शू’न्य में ता’कती रहती थीं। शाहरुख़ ने बताया कि इस बात के सद’मे से वो उ’बरी भी नहीं थीं कि उन्हें एक और सद’मा लगा। पिता की मौत के 10 साल बाद बाद शाहरुख़ की माँ का नि’धन भी इसी बीमा’री से हो गया।

शाहरुख़ ने बताया कि “शहनाज़ को पापा की मौ’त का ऐसा सद’मा लगा था कि वो अपना मानसि’क संतु’लन खो बैठी और 2 साल तक इससे उब’र नहीं पायी। वो रो’ती या चि’ल्लाती नहीं थी लेकिन उसके चेहरे पर पापा के जाने का ग़’म झ’लकता था”। जब शाहरुख़ दिलवाले दुल्हनिया ले जाएँगे की शू’ट कर रहे थे तब शहना’ज़ की तबि’यत बहुत बिग’ड़ गयी।

डॉक्टर ने कहा कि वो बच नहीं पाएँगी। शाहरुख़ उन्हें इला’ज के लिए स्विट्ज़रलैंड ले गए।इलाज के बाद उनकी सेह’त में सुधा’र तो हुआ लेकिन पूरी तरह से वो ठीक नहीं हो पायीं। शहना’ज़ शाहरुख़ के साथ ही रहती हैं और उनके बच्चों के काफ़ी क़री’ब हैं। शहना’ज़ एक सीधी सादी ज़िंदगी बि’ताती हैं।

error: Content is protected !!