हाल ही में संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा ने इस दुनिया को अलवि’दा कहा है। उन्हें लम्बे समय से कि’डनी से जुड़ी कुछ सम’स्याएँ थीं जिसके चलते उनका डायलि’सिस होता रहता था।बुधवार मुंबई में उनका दिल का दौ’रा प’ड़ने से नि’धन हो गया। पंडित शिवकुमार शर्मा ने अपनी कला और वाद्य के साथ इस दुनिया में अपना नाम कमाया। वो फ़िल्मी दुनिया से भी जु’ड़े रहे।

पंडित हरिप्रसाद चौरसिया के साथ मिलकर उन्होंने शिव-हरि नाम से संगीतकार की भूमिका भी कई फ़िल्मों में निभायी। सिलसिला, चाँदनी, लम्हे, ड’र जैसी फ़िल्मों में दोनों ने संगीत दिया। इसके अला’वा भी कुछ फ़िल्मों में अपने संतूर की रागिनी बिखे’रते रहे। 15 मई को एक बार फिर से शिव- हरि एक साथ कार्यक्रम करने वाले थे। शिव- हरि का नाम अब भी लोगों के ज़’हन में ब’सा है।

पंडित शिवकुमार शर्मा के नि’धन पर उनकी अं’तिम यात्रा में भी संगीत, बॉलीवुड के कई नामी सितारे शामिल हुए। अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, जा’वेद अ’ख़्तर, श’बाना आ’ज़मी समेत कई बड़े संगीत से जुड़े चेहरे श्रद्धांज’लि देने के लिए आए। इनमें तबला उस्ताद ज़ा’किर हु’सैन भी थे। ज़ाकिर हु’सैन ने पंडित शिवकुमार शर्मा की अ’र्थी को कां’धा भी दिया।

शिवकुमार शर्मा को पूरे राजकीय सम्मान से विदा किया गया। ऐसे में उनके ऊपर ओढ़ाया तिरंगा भी उस्ताद ज़ा’किर हु’सैन ने ही लिया। बाद में ज’लती चि’ता के सामने वो पूरे सम्मान के साथ, आँखों में ग़’म की छाया लिए खड़े रहे। मानो वो अपने मित्र को अं’तिम वि’दाई देना भी नहीं चाहते और उस सत्य से मुँह भी फे’रना नहीं चा’हते। उनकी ये तस्वीर वाय’रल हो गयी है। लोग इसे दोस्ती की मि’साल के तौर पर देख रहे हैं।

error: Content is protected !!