मुंबई. हम सभी दौलत ओ शोहरत को हासिल करने के लिए जान लगाये बैठे हैं. ज़िन्दगी में आगे निकल जाने की दौड़ ऐसी है कि कई बार हम अपने आपको ही भूल चुके होते हैं. फिर अचानक जब हम रुकते हैं और सोचते हैं तो मालूम होता है कि ये दौलत तो कुछ भी नहीं, असली दौलत तो ये है कि एक इंसान दूसरे की मदद करे. बिग बॉस-6 (Bigg Boss 6) की कंटेस्टेंट और बॉलीवुड एक्ट्रेस सना खान (Sana Khan) भी शायद इसी कशमकश में थीं.

दौलत और शोहरत को और आगे बढ़ाने के बजाय सना ने फ़ैसला किया है कि वो अब अपनी ज़िन्दगी लोगों की मदद के लिए गुज़ारेंगी. उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी और शोबिज़(फ़िल्मी दुनिया) छोड़ने का एलान कर दिया. उन्होंने अपनी पोस्ट के साथ कैप्शन लगाया,”मेरा सबसे खुशी वाला पल. अल्लाह मेरे इस सफ़र में मेरी मदद करें और रास्ता दिखाएं. आप सब मुझे दुआ में शामिल रखें.”

उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा,”भाईयों और बहनों…अब मैं अपनी जिंदगी के सबसे अहम मोड़ पर आ गई हूं और आपसे बात कर रही हूँ. मैं सालों से फिल्म इंडस्ट्री में ज़िन्दगी गुज़ार रही हूँ. एक अरसे में मुझे हर तरह की शोहरत, इज़्ज़त और दौलत मिली. मुझे ये सब अपने चाहने वालों से मिला, जिसके लिए मैं उनकी शुक्रगुज़ार हूं.”

सना ने आगे लिखा,”..लेकिन अब कुछ दिन से मुझ पर ये अहसास कब्जा जमाए हुए है कि दुनिया में आने का मक़सद क्या सिर्फ ये है कि वो दौलत और शोहरत कमाए? क्या उसका ये फ़र्ज़ नहीं होता कि वो अपनी ज़िन्दगी उन लोगों की ख़िदमत में गुज़ारे जो बेआसरा और बेसहारा हैं? क्या उसे ये नहीं सोचना चाहिए कि मौत किसी भी वक़्त आ सकती है और मरने के बाद उसका क्या बनने वाला है. इन दो सवालों के जवाब मैं मुद्दत से तलाश कर रही हूँ. ख़ासकर दूसरे सवाल का जवाब की मरने के बाद मेरा क्या होगा?”

उन्होंने आगे कहा,”इस सवाल का जवाब मैने अपने मज़हब में तलाश किया तो मुझे पता चला कि दुनिया की ये ज़िन्दगी असल में मरने के बाद की ज़िन्दगी को बेहतर बनाने के लिए है. और वो इसी सूरत में बेहतर होगी जब बंदा अपने पैदा करने वाले के हुक्म के मुताबिक अपनी ज़िन्दगी गुज़ारे और सिर्फ दौलत और शोहरत को अपना मक़सद ना बनाए. बल्कि गुनाह की ज़िन्दगी से बचकर इंसानियत की ख़िदमत करे और अपने पैदा करने वाले के बताए तरीक़ों पर चले.”