‘ज़िन्दगी तो बेवफ़ा है एक दिन ठुकराएगी, मौ’त महबूबा है अपने साथ लेकर जाएगी” ‘मुक़द्दर का सिकंदर’ फ़िल्म के एक गीत की ये लाइन अ’चानक ही सच हो जाती है. कल इरफ़ान ख़ान की मौ’त हुई और आज ऋषि कपूर की. कल रात ही हमें ये ख़बर मिली थी कि ऋषि कपूर की तबीअ’त ख़’राब है और वो अस्प’ताल में भर्ती हैं. सुबह हमने सोचा था कि उनकी सेहत में सुधार हुआ होगा लेकिन सुबह अमिताभ बच्चन का ट्वीट आया जिसमें ऋषि कपूर के गु’ज़र जाने की ख़बर थी.

ऋषि कपूर फ़िल्मी दुनिया का जाना-पहचाना नाम थे. बतौर सोलो-हीरो वो बहुत कामयाब नहीं थे लेकिन वो चार्मिंग थे और मल्टी-स्टार फ़िल्मों में अपनी छाप छो’ड़ जाते थे. उन्हें कई सोलो हिट भी दी हैं जिनमें बॉबी, लैला मजनूँ, सरगम,चाँदनी, क़र्ज़, नगीना और बोल राधा बोल प्रमुख हैं. उन्होंने अमर अकबर अन्थोनी, कभी-कभी, हम किसी से कम नहीं, दुनिया, नसीब, कुली, अजूबा, दीवाना और दामिनी जैसी फ़िल्मों में काम किया.

हाल के दिनों में उन्होंने अग्निपथ और कपूर एंड संस जैसी फ़िल्मों में काम किया. कपूर एंड संस के लिए उन्हें फ़िल्मफ़ेयर का सहायक अभिनेता का ख़िताब मिला. ऋषि कपूर के बेटे रणबीर कपूर भी आज के दौर में मशहूर हीरो हैं. ऋषि और रणबीर के रिश्ते बहुत अच्छे नहीं थे.इस बारे में ख़ुद ऋषि कपूर ने बताया था कि रणबीर के साथ उनके रिश्ते अच्छे नहीं हैं और इसके लिए वह ख़ुद को ज़िम्मेदार मानते हैं.

तब ऋषि ने कहा था,”मेरे बचपन के मुताबिक रणबीर काफी वेल स्पोकन, वेल बिहेव्ड और एकदम साधारण हैं. रणबीर की इस प्रकार की परवरिश के लिए नीतू की तारीफ तो बनती है. मैं अपने पिता राज कपूर का सम्मान करता था और कोई ख़’राब चीज़ उनके सामने नहीं करता था और रणबीर कपूर भी बिल्कुल ऐसा ही करता है.” सन 2018 में ऋषि कैं’सर की चपेट में आ आगे. उन्हें इलाज के लिए अमरीका ले जाया गया. उनकी पत्नी नीतू कपूर ने उनका बहुत ख़याल रखा. रणबीर भी मुश्किल घड़ी में पापा के साथ हो गए थे. ऋषि कपूर की तबीअत कुछ दिन पहले काफ़ी बिगड़ गई जिसके बाद उन्हें अस्पता’ल में एड’मिट किया गया. आज सुबह उन्होंने अं’तिम साँस ली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *