आर डी बर्मन यानी कि राहुल देव बर्मन सालों पहले इस दुनिया से जा चु’के हैं लेकिन वो अपने पीछे जो संगीत का ख़ज़ाना छो’ड़कर गए हैं उसका आनंद हम आज भी उठाते हैं। हर उम्र के लोगों को राहुल देव बर्मन का संगीत लुभाता है। उनके संगीत में हर समय का एक मिला-जुला रूप है। राहुल देव बर्मन के कई गाने आज तक लोगों की फ़ेवरेट प्लेलिस्ट का हि’स्सा हैं।

राहुल देव बर्मन जो कि अपने पिता सचिन देव बर्मन के रास्ते पर चलते हुए संगीत को ही अपनाया। वैसे आर डी बर्मन के लिए पिता के रास्ते को अपनाया भी आसान नहीं था क्योंकि उन्हें पिता ने म’दद नहीं की बल्कि कहा कि वो अपने दम पर आगे बढ़ें। पिता को कई साल असिस्ट करने के बाद आर डी बर्मन को मौ’क़ा मिला।

इस दौरान वो कई कलाकारों से भी मिलते रहे जैसे कि किशोर कुमार। इनके साथ बाद में काफ़ी काम भी किया। आर डी बर्मन ने छोटी सी उम्र से ही संगीत बनाना शुरू कर दिया था। आर डी बर्मन ने आशा भोंसले से शादी की थी। आशा भोंसले के साथ उन्होंने लम्बे समय तक काम किया और उन्हें काफ़ी पसंद करते रहे।

जब पहली बार उन्होंने अशा भोंसले को अपने प्यार की बात बतायी तो अशा भोंसले ने उन्हें म’ना कर दिया था पर कुछ दिनों बाद वो मान गयीं। आप जा’नते हैं, जब आर डी बर्मन का नि’धन हुआ तो आशा भोंसले और आर डी बर्मन के मैनेजर भरत के बीच जमकर झग’ड़ा हो गया था। जब आर डी बर्मन के जाने के बाद उनका बैंक लॉकर खोलना था तो बैंक ने आशा भोंसले और मैनेजर भरत के साथ- साथ कई रिश्तेदार भी मौजूद थे।

जब सभी के सामने लॉकर खुला तो सभी है’रान रह गए। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि आर डी बर्मन के बैंक लॉकर में सिर्फ़ 5 रुपए निकले।सभी को ये लगा था कि बहुत ज़्यादा पैसे मिलेंगे लेकिन जब सिर्फ़ 5 रुपए मिले तो सभी को निरा’शा भी हुई।  

error: Content is protected !!