हमेशा से एक बात कही जाती है कि बड़ी उम्र से बड़ा नाम हासिल नहीं होता। नाम कमाना है तो कुछ ऐसा काम कर जाओ जिससे दुनिया तुम्हें हमेशा या’द रखे। इस बात को कन्नड़ फिल्म डायरेक्टर प्रशांत नील ने सच कर दिखाया है। उन्होंने भले ही अपने करियर में केवल 3 फिल्में बनाई हैं, लेकिन इन तीन फिल्मों से वो मुकाम हासिल कर लिया है जो अच्छे-अच्छे डायरेक्टर 100 फिल्में बनाने के बाद भी हासिल नहीं कर पाते। बताते चलें कि आज प्रशांत नील का जन्मदिन है और उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके करियर से जुड़ी कुछ बातें बताने जा रहे हैं।

बता दें कि जब प्रशांत नील ने अपने करियर की शुरुआत की थी तब उनको काफी सारी मु’श्किलों का सामना करना पड़ा था। बताया जाता है कि वह पैसा कमाना चाहते थे और इसके लिए ही वह फिल्म इंडस्ट्री में आए थे। लेकिन अब फिल्मों की सफलता को देख उनका इंटरेस्ट बढ़ता जा रहा है। इस बात का खु’ला’सा उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में किया था। इस इंटरव्यू के दौरान ही उन्होंने एक और बड़ा खु’ला’सा किया था।

उन्होंने बताया था कि अपने करियर की पहली फिल्म उन्होंने अपने बहनोई श्रीमुरली संग करना चाही थी। लेकिन श्रीमुरली ने फिल्म की कहानी को पढ़ते हुए फिल्म करने से इंका’र कर दिया था। प्रशांत बताते हैं कि श्रीमुरली ने उनकी स्टोरी में कई गलतियां पकड़ीं और इनपर काम करने को कहा। जिसके बाद उन्होंने श्रीमुरली की फिल्मों को ध्यान से देखना शुरू किया और अपनी पहली फिल्म के लिए तैयार हुए।

साल 2014 में रिलीज हुई फिल्म उग्रम उनकी पहली फिल्म है। अपनी पहली ही फिल्म से उन्होंने रिकॉर्ड कायम किया। बता दें कि प्रशांत की इस फिल्म ने साल 2014 में सबसे ज्यादा कमाई की थी। जिसके बाद साल 2028 में फिल्म ‘केजीएफ’ के आते ही वह फेमस हो गए। सिर्फ कन्नड़ में ही नहीं बल्कि पूरे देश में उनको पहचाना जाने लगा। इस फिल्म में कई रि’कॉर्ड तो’ड़े। वहीं, इस साल रिलीज हुई फिल्म ‘केजीएफ 2’ ने भी कई रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं।