बॉलीवुड के चहेते अभिनेता इर’फ़ान ख़ा’न को दु’निया से गए हुए कल एक महीने पूरे हो गए। इर’फ़ान ख़ा’न एक ग’म्भीर कैं’सर से जू’झ रहे थे और विदेश में इला’ज करवाने के बाद ठीक हो कर वाप’स आए थे। उन्होंने फ़िल्मी दुनिया में वाप’स क़द’म रखा और एक फ़िल्म में काम भी किया लेकिन प्रमो’शन के दौ’रान ही उनकी तबि’यत ख़रा’ब रहने लगी बाद में वो अस्प’ताल में भ’र्ती हुए और इस दुनिया को छो’ड़ गए। इर’फ़ान के जाते ही फ़िल्मी दुनिया ही नहीं बल्कि आम इंसानों के बीच शो’क की लह’र दौ’ड़ गयी और उस रोज़ ये बात साम’ने आयी कि इर’फ़ान ने लाखों दिल अपने नाम किए हैं।

इर’फ़ान के जाने के बाद कुछ ऐसी बातें साम’ने आयीं जो इर’फ़ान ने कभी लोगों के साम’ने नहीं आने दी थी। ये बातें ऐसी थी जिन्हें आमतौ’र पर लोग छु’पाते नहीं बल्कि बताते हैं। ये माम’ला साम’ने आया जब इर’फ़ान ख़ा’न के जाने के बाद महाराष्ट्र के इगतपुरी के पास एक आदिवासी ब’स्ती के लोगों ने बताया कि वो इर’फ़ान की याद में अपने गाँव का नाम बद’लकर “हीरो ची वाड़ी” कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि किस तरह इर’फ़ान ने उनके लिए कई तरह की म’दद की जिनमें उनके बच्चों की पढ़ाई, गाँव में सुख सुविधा मु’हैया करवाना और द’वाख़ाने की व्य’वस्था तक शा’मिल थी। यही नहीं इर’फ़ान हर त्योहार में उनके साथ शा’मिल भी होते थे और सह’ज ही सभी के दिलों को अपना बना लिया।

Irrfan Khan
अब जब इर’फ़ान को गए हुए एक महीना हो गया है ऐसे में उनका एक और भला काम साम’ने आया। इर’फ़ान ख़ा’न के क़री’बी मित्र जि’याउ’ल्लाह ने एक इंटरव्यू में बताया कि उनकी टीम कोरो’ना का’ल में म’दद के लिए फ़ं’ड इक’ट्ठा कर रही थी और इस बारे में उन्होंने इर’फ़ान के भाई से भी बात की और इर’फ़ान से भी। दोनों ने ही उनकी म’दद की थी। इर’फ़ान ख़ा’न उस समय भी अपनी ख़’राब सेह’त से जू’झ रहे थे लेकि’न उन्होंने फिर भी कोरो’ना संक्र’मण में ज़’रूरतमं’दों के लिए डो’नेशन दिया। लेकिन उनकी श’र्त थी कि इस बारे में किसी को कुछ न बता’या जाए। इर’फ़ान का मा’नना था कि जब म’दद की जाए तो किसी को ख़’बर न हो। उनके मित्र ने कहा कि अब जबकि इर’फ़ान नहीं हैं इसलिए मेरा फ़’र्ज़ बनता है कि मैं इस बारे में सभी को बताऊँ वो होते तो मैं किसी को कुछ नहीं बताता।