कंट्रोवर’शियल क्वीन कंगना रनौत की मुसी’बतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। आए दिन वह किसी ना किसी वि’वा’द के कार’ण सु’र्खियों में बनी रहती हैं। सुशांत सिंह राजपूत के नि’धन के बाद उन्होंने कई ऐसी टिप्पणियां कीं जिसकी उम्मीद एक नामी बॉलीवुड अदाकारा से नहीं की जाती है. यही नहीं बल्कि शिवसेना संसद संजय राउत के साथ बया’नबाज़ी और बॉलीवुड में चल रहे परिवा’रवाद को लेकर भी कंगना ने लोगों का ध्यान अपनी ओर खीं’चा था। यूं तो अक्सर ही हर मु’द्दे पर बेबाक तरीके से अपनी राय रखती है, लेकिन अब अपने इसी बे’बाक अंदाज़ के चलते वह बड़ी मु’सीबत में फं’सती नजर आ रही हैं।

खबर है कि दो मु’स्लिम व्यक्तियों ने मुंबई की बांद्रा कोर्ट में कंगना रनौत के खि’लाफ याचि’का दायर की गई है, जिसके आधा’र पर कोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। याचिकाकर्ताओं ने कंगना पर आरो’प लगाया है कि वह अक्सर हिंदू-मु’स्लिम समुदायों के बीच झ’गड़ा कराने की कोशिशों में लगी रहती हैं। इसके साथ ही याचिका में यह भी कहा गया है कि कंगना अपने बयानों से दो समुदायों के बीच नफ’रत फैलाती हैं, जिससे लोगों की धा’र्मिक भावनाएं आ’हत होती हैं।
Kangana Ranaut
याचिकाकर्ताओं की मानें तो पहले वह बांद्रा पु’लिस स्टे’शन में कंगना के खि’लाफ शि’कायत दर्ज कराने गए थे, लेकिन पुलिस ने संज्ञान लेने से मना कर दिया था, जिसके बाद वह कोर्ट गए। याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट में याचिका दायर करने के साथ-साथ कंगना रनौत के सारे ट्वीट भी सबूत के तौर पर पेश किए हैं, जिसके आधा’र पर कंगना के खिलाफ सीआरपीसी की धा’रा 156 (3) के तहत एफआईआर द’र्ज कराई जा सकती है। जिसके बाद कंगना से पू’छताछ होगी और पु’ख्ता सबू’त मिलने पर गिर’फ्तारी भी ही सकती है। इससे पहले भी कंगना के खि’लाफ कर्नाटक के तुमकुरू जिले में एफआईआर द’र्ज की जा चुकी है।