बड़े बुज़ुर्ग कह गए हैं कि अगर इंसान से कोई ग़लती हो जाए तो उसको पहली बार ही मान लो क्यूंकि अक्सर उस ग़लती को छुपाने के लिए कई और ग़लतियाँ इंसान करता है. बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रानौत का केस भी कुछ इसी तरह का हो गया है. कंगना अपने बड़बोलेपन के लिए जानी जाती हैं, वो एक ऐसी अभिनेत्री हैं जिन्होंने कुछ साल पहले जो बयान दिए थे उन्हीं के ख़िलाफ़ बोल रही हैं. कभी भी किसी पर भी कोई भी आरोप वो भी बिना किसी सबूत के लगाना, कंगना की आदत में शुमार हो गया है.

पिछले दिनों उन्होंने बॉलीवुड के कुछ नामी सितारों के नाम लिए और कहा कि इनका ड्र’ग्स टेस्ट होना चाहिए, इसके बाद सवाल उठा कि आख़िर कंगना कौन होती हैं जाँच एजेंसियों को इस तरह से आदेश देने वालीं. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के केस में जब कंगना पर व्यक्तिगत फायदा उठाने का इलज़ाम लगा तो उन्होंने एक ऐसा ट्वीट कर दिया जिसने उन्हें एहसान-फ़रामोश का टैग दे दिया. जिस मुंबई ने कंगना को नाम ओ शोहरत दी, कंगना ने उसी शहर के ख़िलाफ़ ट्वीट कर दिया.


मुम्बई पुलिस और शिवसेना से अपनी नाराज़गी को जताते हुए कंगना ने देश की मायानगरी को POK (Pakistan Occupied Kashmir) के बराबर खड़ा कर दिया. मुंबई में रहने वाले अधिकतर लोगों ने इस पर तीख़ी प्रतिक्रिया दी. कंगना की भाषा दिन ब दिन ख़राब होती जा रही है, जिन अलफ़ाज़ को सभ्य परिवार अपने घर में इस्तेमाल नहीं करते उन शब्दों का इस्तेमाल कंगना खुलेआम कर रही हैं और किसी के भी लिए कर रही हैं. इसको लेकर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने भी बयान दिया.

देशमुख ने साफ़ कहा कि मुंबई पुलिस की तुलना स्कॉटलैंड यार्ड से होती है.. कुछ लोग मुंबई पुलिस को निशाना बना रहे हैं. उन्होंने कहा,”एक आईपीएस अफ़सर इस सिलसिले में अदालत भी गए हैं.. उनके मुंबई पुलिस की तुलना (POK) से करने के बाद.. उन्हें महाराष्ट्र या मुंबई में रहने का कोई अधिकार नहीं है.” अब कंगना ने इस पर जो प्रतिक्रया दी है वो भी आपत्तिजनक मानी जा रही है. उन्होंने अब मुम्बई की तुलना तालिबान से कर दी है.
kangna Ranaut [/caption]
कंगना की लगातार बयानबाज़ी पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है,”मैं उनके ट्वीट पर कुछ नहीं कहूंगा और न ही उन जैसी भाषा का इस्तेमाल करूंगा। मैं महिला का सम्मान करता हूं। कंगना ने मुंबई पुलिस का अपमान किया है, पुलिस को लेकर जो टिप्पणी की थी वह गलत है। जिस तरह की बातें सामने आ रही हैं, ये तो मेंटल केस है।”