मुम्बई: बॉलीवुड में कथित ड्र’ग्स मामले में जिस तरह की कवरेज मीडिया के एक गुट द्वारा हो रही है उससे बहुत से परिवार परेशान हो रहे हैं. कई नामी फ़िल्म स्टार्स का नाम ऐसे लिया जा रहा है जैसे वो कोई गुण्डे-बदमाश हों. कब किस स्टार को कौन क्या बोल दे कुछ पता नहीं है. मीडिया ट्रायल एक ऐसी चीज़ बन गई है जिससे अब समाज में ग़लत भावना जा रही है. इंसाफ़ दिलाने के नाम पर टीआरपी का ऐसा खेल शुरू हुआ है कि अब सब इसी में लग गए हैं.

इस इस तरह की बदतमीज़ी एंकर कर रहे हैं जो किसी गली-मुहल्ले में देखने को नहीं मिलेगी. ड्र’ग्स मामले में जिस तरह से मीडिया ने राकुल प्रीत सिंह और सारा अली ख़ान का नाम चलाया है वो समझदार लोगों को रास नहीं आ रहा है. इस मामले में अपना पक्ष लेकर रकुल प्रीत सिंह दिल्ली हाई कोर्ट पहुँच गई हैं. अभिनेत्री को हाई कोर्ट से राहत मिली है. अदालत ने केंद्र सरकार से इस सिलसिले में जवाब माँगा है.

रकुल ने एक याचिका दायर की है जिसमें उन्होंने माँग की थी कि ड्र’ग मामले में उनका नाम जोड़ने वाली मीडिया रिपोर्ट्स को चलने से रोका जाए. उनकी बात को समझते हुए न्यायमूर्ति नवीन चावला ने केन्द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय, प्रसार भारती और भारतीय प्रेस परिषद को नोटिस जारी किया है और साथ ही जवाब भी माँगा है.सुनवाई की अगली तारीख़ 15 अक्टूबर है, अदालत ने कहा कि उसे इस बात की उम्मीद है कि रिया चक्रवर्ती से जुड़े मामले से सम्बंधित ख़बरों पर मीडिया संयम बरतेगा. उल्लेखनीय है कि रिया चक्रवर्ती मामले में जिस तरह से कुछ मीडिया हाउस ने रिपोर्टिंग की है उसकी कड़ी आलोचना हो रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *