मुंबई: अवार्ड शोज़ को लेकर बहुत से लोग ऐतराज़ जताते रहे हैं. पिछले कुछ समय में अवार्ड शोज़ में अवार्ड के अलावा बहुत कुछ होता है. अवार्ड फंक्शन कभी रियलिटी शो की तरह बन जाते हैं तो कभी ये किसी टीवी शो की तरह बन जाते हैं लेकिन इसमें आर्ट को लेकर उतनी बात नहीं होती. कुछ इसी तरह की बात बॉलीवुड के मशहूर लेखक, निर्देशक और अभिनेता सतीश कौशिक ने कही है. कौशिक ने एक इंटरव्यू दिया है जिसमें वो अवार्ड शोज़ से ख़ासे नाराज़ नज़र आ रहे हैं.

कौशिक का कहना है कि सलमान ख़ान जैसे अभिनेता को फ़िल्म ‘तेरे नाम’ के लिए कोई अवार्ड नहीं मिला जबकि ये फ़िल्म एक बेंचमार्क थी. आपको बता दें कि ‘तेरे नाम’ सतीश कौशिक के निर्देशन में बनी थी. ‘तेरे नाम’ से पहले सलमान का करीयर ढलान पर था, कुछ मैगज़ीन में तो सलमान का करीयर ख़त्म भी मान लिया गया था लेकिन इस फ़िल्म ने सलमान को बड़ी कामयाबी दी. फ़िल्म में सलमान की अदाकारी की भी काफ़ी तारीफ़ हुई थी.

कौशिक ने कहा कि अवार्ड्स ‘साइंटिफिक और फ़ेयर’ होने चाहियें. उन्होंने कहा कि जब ‘तेरे नाम’ रिलीज़ हुई, लोगों ने सलमान को अलग अवतार में बहुत पसंद किया था और इसकी चर्चा आज भी होती है.. आज राधे का करैक्टर सलमान के सबसे आइकोनिक रोल में गिना जाता है लेकिन इसके लिए भी सलमान को कोई अवार्ड नहीं मिला.उन्होंने कहा,”अवॉर्ड फंक्शन अब टीवी शोज की तरह बन हए हैं. इनमें ज्यादातर ग्लैमर, जश्न पर ध्यान दिया जाता है लेकिन आर्ट पर ध्यान कम ही रहता है. कभी-कभी तो मुझे ये समझ नहीं आता कि ये लोग विनर कैसे तय करते हैं”.

वो आगे कहते हैं,”जब तेरे नाम रिलीज हुई थी, लोगों ने सलमान को अलग अवतार में काफी पसंद किया था. वो आज भी इसके बारे में बात करते हैं. आज राधे का कैरेक्टर सलमान खान के सबसे आइकॉनिक रोल में गिना जाता है, लेकिन सलमान खान आज तक इसके लिए अवॉर्ड नहीं मिला. सभी को लगता है कि मैं सिर्फ लोगों को हंसा सकता हूं. मैं इस तरह की फिल्म बना सकता हूं, तारीफें भी पा सकता हूं लेकिन मुझे कभी कोई अवॉर्ड नहीं मिला”. कौशिक ने अवार्ड पाने की इच्छा ज़ाहिर करते हुए अवार्ड शोज़ के प्रोसेस पर दुबारा काम करने की ज़रूरत बताई.