मुम्बई: समाचार एजेंसी ANI ने ट्वीट करके ये जानकारी दी है कि अमिताभ बच्चन ने ट्वीट किया है कि मशहूर फ़िल्म अभिनेता ऋषि कपूर का मुंबई के एक अस्पताल में दे’हांत हो गया है. इस सिलसिले में अभी और जानकारी आन बाक़ी है. ऋषि को कैं’सर था और उनकी तबी’अत पिछले दिनों बिग’ड़ गई थी.उनकी तबीअत ख़’राब होने के चलते उन्हें मुंबई के एचएन रिलायंस अस्पता’ल में भर्ती किया गया था. ऋषि को कैं’सर सम्बंधित समस्या को लेकर अस्पताल में दाख़िल किया गया था और उन्हें ICU में रखा गया था.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने उनके देहांत की ख़बर पर लिखा,”ये हफ़्ता भारतीय सिनेमा के लिए बहुत बुरा है..एक और लीजेंड गुज़र गया, ऋषि कपूर. एक शानदार एक्टर जिसकी बड़ी फैन फॉलोइंग थी, उन्हें बहुत याद किया जाएगा.” राहुल ने उनके परिवार और चाहने वालों को इस दुःख की घड़ी में हौसला दिया. आपको बता दें कि साल 2018 में ऋषि कपूर कैंस’र का इलाज कराने न्यूयॉर्क गए थे. हालाँकि पहले परिवार के लोगों के अलावा किसी को इसकी सूचना नहीं दी गई थी लेकिन बाद में इसको लेकर मीडिया में ख़बरें आने लगीं. इसके बाद ऋषि कपूर ने ख़ुद इस बारे में बताया था और कहा था कि उनकी हालत में अब सुधार है.

नीतू सिंह ने न्यूयॉर्क में रहकर उनकी देखभाल की थी. हा’लत में सु’धार होने पर वो दुबारा मुम्बई आ गए थे. ऋषि कपूर अपने ज़माने के जाने-माने अभिनेता रहे हैं. उन्होंने अपना फ़िल्मी सफ़र ‘बॉबी’ से शुरू किया, ये फ़िल्म बहुत बड़ी हिट साबित हुई. उन्होंने अपने करीयर में अमर अकबर अन्थोनी, की जो ज़बरदस्त हिट रही.अपने करीयर में उन्होंने अमर अकबर अन्थोनी, खेल-खेल में, लैला मजनूँ, सरगम, क़र्ज़, दुनिया, कुली, सागर, और बोल राधा बोल जैसी फ़िल्मों में काम किया.

उन्हें फ़िल्म बॉबी के लिए फ़िल्मफेयर का सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरूस्कार भी मिला था. उन्होंने अपने पिता की फ़िल्म ‘मेरा नाम जोकर’ में भी छोटा सा रोल अदा किया था. ऋषि ने निर्देशन के क्षेत्र में भी हाथ आज़माया था. उन्होंने ‘आ अब लौट चलें’ फ़िल्म का निर्देशन किया. उनका जाना सिनेमा जगत के लिए बड़ी क्षति है.