बॉलीवुड के हीरो-हीरोइन की सक्से’स तो हम अपनी आंखों से देख लेते हैं, लेकिन इस सक्से’स के पीछे की स्ट्रग’ल और संघ’र्ष से हम अक्सर ना वाक़िफ होते हैं। फिल्म इंड’स्ट्री में ऐसे कई सेले’ब्स हैं, जिन्हें बॉलीवुड में अपना नाम बनाने के लिए काफी स्ट्रग’ल करनी पड़ी। इन्हीं सेलेब्स में फिल्म ‘एयरलि’फ्ट’ में बेहतरीन ए’क्टिंग के ज’रिए लोगों का दिल जीतने वाली एक्ट्रेस निमरत कौर भी शामिल हैं। निमरत कौर ऐसी अभिनेत्रियों में शुमा’र होती हैं जिनका बॉलीवुड से कोई संबं’ध नहीं था। वह आर्मी परिवार से ताल्लु’क रखती थीं, ऐसे में बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना उनके लिए बहुत मुश्कि’ल था।

यूं तो अपने करियर के शुरुआती दिनों में निमरत ने म्यूजिक विडियोज और ऐड में काम किया, लेकिन साल 2012 में आई फिल्म ‘पेड’लर्स’ से उन्होंने बॉलीवुड में डेब्यू किया। इस फिल्म के बाद से ही निमरत कौर सफ’लता की सी’ढ़ी चढ़ती गईं और ‘लंचबॉक्स’ जैसी बेहतरीन फिल्म में बॉलीवुड एक्टर इरफान खा’न के साथ मुख्य भू’मिका निभाई। हाल ही में एक्ट्रेस ने अपने स्ट्र’गल की कहानी फैंस के साथ शेयर की हैं। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौ’रान बताया है कि स्ट्र’गल के दिनों में उन्हें का’फी मुश्कि’लों का साम’ना करना पड़ा था।
Nimrit Kaur
निमरत ने इंटरव्यू में कहा, “दिल्ली में मैं नौ’करी करती थी, उससे हुई क’माई से मैंने कुछ पैसा जो’ड़ा था। इन पैसों से मेरे शुरुआती 6-7 महीने जैसे-तैसे क’ट गए। लेकिन, मुझे अभी तक नहीं पता था कि मुझे क्या करना है। फोटोग्राफ्स लेकर कहां जाना है। क्या करना है-क्या नहीं करना है और सबसे जरूरी बात कहां से शुरुआत करनी है?” निमरत कौर ने बताया कि ऑडि’शंस के बारे में पता करने के लिए वह साइ’बर कैफे जाती थीं और प्रोडक्शन हाउसेज का नाम खो’जतीं और फिर उनके ऑफिस अपने फोटोग्राफ देने जाती थीं।

एक्ट्रेस ने कहा, “प्रो’डक्शन हाउस के नाम और पता देखने के बाद मैं ये करती थी, कि वहां जाती थी और अपनी तस्वीरें देकर आ जाती थी और देखती थी कि क्या होता है। मैं वहां खुद जाती थी और एरि’या देखती थी।” उन्होंने आगे कहा, “बस और लो’कल ट्रेन से सफर करती थी। उन दिनों मैं कैब अफॉर्ड नहीं कर सकती थी। ना ही मेरे पास मोबाइल था। उस वक्त मोबाइल फोन महंगा हुआ करता था। कॉल्स भी काफी मंह’गी होती थी। मैं पीसीओ जाकर अपनी मां को फोन करती थी और घंटों बस रो’ती रहती थी। वह समय बहुत ही भया’नक और डरा’वना था।”