सैफ़ अ’ली खा’न और करीना अक्सर ख़बरों में बने ही रहते हैं। एक ऐसा मौक़ा भी आया जब माँ शर्मिला टैगोर की कही एक बात का सैफ़ को बड़ा बु’रा लगा। सैफ़ ने इस बात के जवा’ब में कुछ ऐसा कह दिया था जो एक बेटा अपनी माँ के लिए कभी नहीं कहता। सैफ़ ने ख़ुद को अपनी माँ की ग’लती कह दिया। असल में उन्हें अपनी माँ की बात से कुछ ऐसा ही एहसास हुआ था।

जी हाँ, जब साल 2012 में शर्मिला टैगोर ने अपने एक इंटरव्यू में सैफ़ के लिए कुछ ऐसी बात कह दी थी जिससे सैफ़ को ऐसा एहसास हुआ था। असल ने शर्मिला टैगोर ने सैफ़ के बारे में बताते हुए कहा था कि “सैफ़ को देखने के बाद मेरे दिल में पहला ख़याल आया कि वो एक ख़ूबसूरत बच्चा है। पर वो शुरू से ही हार जगह अपना दिमा’ग़ लगाता था। उसे पालना आसान नहीं था”।

आगे शर्मिला ने कहा कि “सैफ़ काफ़ी स्पों’टेनिय’स था। खेल के हर नियम को तो’ड़ देता था। ये आद’त उस्के साथ हमेशा से रही है। उसे सम्भा’लना एक चैलें’ज था। वो बहुत तेज त’र्रार और बुद्धिमान था। साथ ही इम्पलसिव भी था और सहज भी। हर हाला’त को बहुत जल्दी भाँ’प लिया करता था। मैं उन दिनों काफ़ी बिज़ी रहा करती थी। जब वो छोटा था तो एक से छह साल तक में डबल शि’फ़्ट में शू’टिंग करती थी। मु’श्कि’ल से उसे कभी लेने या छो’डने ज़ा पाती थी”।

जब सैफ़ से इस बारे में पूछा गया कि शर्मिला टैगोर ने उन्हें एक स्पोंटेनियस बच्चा कहा तो सैफ़ ने तुरंत कहा कि “इसका क्या मतलब है? आप क्या ये पूछ रही हैं कि मैं एक गलती था?”। सैफ़ के इस सवाल के सामने तो किसी के पास कोई जवाब नहीं था। सैफ़ से जब पूछा गया कि उन्होंने स्पोंटेनियसली क्या किया है तो उन्होंने बात को सम्भालते हुए कहा कि मैं इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहूँगा।

error: Content is protected !!