लखनऊ. पूरी दुनिया में कोरोना वाय’रस बड़ी महामा’री बन गया है. भारत में भी इस बीमारी ने मुश्किल पैदा कर रखी है. कहा जा रहा है कि जो लोग कोरोना से संक्रमित रहे हैं और अब ठीक हो गए हैं, उनका प्लाज़्मा अन्य कोरोना पॉज़िटिव मरी’ज़ों के इलाज में इस्तेमाल हो सकता है. परन्तु ख़बर है कि किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के सूत्रों ने बताया है कि बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर का प्लाज़्मा इस तरह से इस्तेमाल होने लायक़ नहीं है.

कनिका कोरोना पॉज़िटिव पायी गई थीं जिसके बाद उनका इलाज लखनऊ में हुआ और अब वो पूरी तरह स्व’स्थ हैं. बताया जा रहा है कि कनिका को हाईग्रेड कोरोना नहीं था इसलिए कनिका के शरीर में कोरोना से लड़ने वाली एंटीबॉडीज़ भी कमज़ोर हैं. कनिका के ब्लड का सैम्पल लिया गया था जिसके बाद इस तरह की रिपोर्ट आयी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि कनिका का प्लाज़्मा म’रीज़ों के काम में नहीं लिया जा सकता.

उल्लेखनीय है कि कनिका कपूर ने अपना प्लाज़्मा अन्य मरी’ज़ों के इलाज के लिए देने की बात कही थी, इसके बाद ही उनका ब्लड सैम्पल लिया गया था. आपको बता दें कि कनिका कपूर मार्च के महीने में कोरोना पॉज़िटिव पायी गईं जिसके बाद उनका इलाज लखनऊ में हुआ. उनके ऊपर कुछ लोगों ने ये भी आरोप लगाया कि उनकी वजह से कोरोना संक्रमण में इज़ाफ़ा हुआ हालाँकि इस दावे में किसी प्रकार की कोई सच्चाई न थी. कनिका के ऊपर लापरवाही करने का केस दर्ज है. लखनऊ लखनऊ के सरोजिनी नगर थाने में आईपीसी की धारा 188, 269 और 270 के तहत एफआईआर दर्ज है. ऐसे में पुलिस की टीम उनका बयान दर्ज करेगी.