मुम्बई: कोई बात कहाँ तक करना चाहिए ये हमें मालूम होना चाहिए लेकिन ऐसा लगता है कि बॉलीवुड की जो आजकल की बहस इसमें किसी को कुछ नहीं पता है. इस तरह की तू-तू मैं-मैं तो गली मुहल्लों में नहीं होती है जैसी चल रही है. कँगना रानौत ने मुम्बई की तुलना पीओके से कर दी, इसके बाद जब आलोचना हुई तो बजाय खेद जताने के उसी बयान को डिफेंड करने के लिए भी जाने क्या कुछ बोल गईं. अब उनके बयान और उनके पक्ष और विरोध में बयान.

एक तरह से जैसे अनर्गल बयानों की बाढ़ आ गई है. इस पूरे मामले में पॉपुलैरिटी उसको मिल रही है जिसे नहीं मिलनी चाहिए, चर्चा वो हो रही है जिसकी चर्चा भी नहीं होनी चाहिए. कुछ मीडिया हाउस कँगना रानौत के पक्ष में बात करते हुए उन्हें महिला की तरह पेश करते हैं लेकिन इन्हीं चैनल्स की नज़र में रिया चक्रवर्ती का महिला होना कोई मायने नहीं रखता है. कुल मिलाकर कुछ भी चल रहा है, एक मीडिया है जो अपनी टीआरपी में लग गया है, कुछ एक्टर हैं जो राजनीतिक दलों के इशारे पर नाच रहे हैं और सच कोई भी नहीं सुनना चाहता.

बहरहाल, इस सब के बीच राखी सावंत ने भी अपना वीडियो जारी कर दिया है. राखी ने अपने वीडियो पोस्ट में कँगना रानौत को जमकर खरी खोटी सुनाई है. राखी सावंत कहती नज़र आ रही हैं कि कँगना की नज़र में सब बुरे हैं बस वो ही अच्छी है. राखी कहती हैं कि जब कंगना को मुंबई पाकिस्तान लगता है कि तो फिर यहां काम करने क्यों आई हैं. वह यहां काम करने क्‍यों आई है. उन्‍होंने बॉलीवुड के कई कलाकारों को आड़े हाथों लिया है तो फिर वह यहां क्‍यों आई है.

राखी ने कहा कि उन्‍होंने हिमाचल में अपना जो घर बनाया है उसके पैसे भी मुंबई से कमाए है. राखी ने साथ ही कहा कि सब बुरे हैं बस कँगना ही अच्छी है और उसमें कोहिनूर लगे हैं. कुल मिलकर अब इस पूरी बात में कोई मुद्दा नहीं बचा है. बचा बस ये है कि “तूने कैसे कहा”, तो दूसरा कहता है “मैं तो कहूँगी.” अभी ये बहस कुछ दिन तक चलेगी.. बहस नहीं बस कुछ भी..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *