राजू श्रीवास्तव पिछले काफ़ी समय से अस्प’ताल में ही हैं। उन्हें होश न आने के कारण वो अस्प’ताल में वेंटि’लेंटर के सहारे हैं। एक महीने से भी ज़्यादा वक़्त हो चुका है जबसे राजू अस्प’ताल में हैं। ऐसे में राजू काफ़ी च’र्चा में भी हैं। राजू की ज़िंदगी भी काफ़ी उतार- च’ढ़ाव से भरी हुई है ऐसे में उन्होंने सालों की मेहनत के बाद एक मुक़ाम हासिल किया। राजू न सिर्फ़ लोगों को हँसाते रहे बल्कि उनके दिलों में भी जगह बनायी। राजू पहले कई बार ख़’बरों का हि’स्सा रहे।

राजू ने एक बार इंटर्व्यू में बताया था कि “मैंने अपनी ज़िंदगी में बहुत द’र्द देखा है। इसे मैं कॉमेडी में इस्तेमाल करता हूँ। मैंने रि’श्वत न देने पर भाई की नौकरी छू’टते हुए देखा है। दहेज न मिलने पर बहन की शादी टू’टते देखी है। आज लोगों के प्यार से मेरे पास इतना है कि मेरी रसोई में ख़ाना है। मैं अपने बच्चों की फ़ीस भर पाता हूँ। सोचता हूँ कि किसी तरह लोगों की मदद कर सकूँ”। राजू की ये बातें ही उन्हें लोगों से जोड़े रखती थीं।

वहीं राजू पैसों के लिए कुछ भी करने को तै’यार नहीं हुआ करते थे। राजू को जब पा’किस्तान में शो का ऑफ़र आया तो उन्होंने म’ना कर दिया था। इस बारे में बात करते हुए राजू ने कहा कि “मैं पा’किस्तान में कभी भी पर्फ़ॉ’र्म नहीं कर पाऊँगा। मैं ऐसे देश में जाकर कॉमेडी शो नहीं कर सकता। दरअसल मुझसे ऐसी जगह पर कॉमेडी हो ही नहीं पाएगी। मुझे पा’किस्तान के पैसों की ज़रूरत नहीं हैं”। उनके इस ब’यान से काफ़ी बवा’ल म’चा था साथ ही उनकी काफ़ी ता’रीफ़ भी हुई थी।

राजू ने लोगों के दिलों में ऐसी जगह बनायी है कि हर अ’नजान अ’जनबी भी उनके ठीक हो जाने की प्रा’र्थना कर रहा है।परिवार का कहना है कि लोगों की प्रा’र्थना और दुआएँ रंग ला रही हैं तभी तो राजू रोज़ ठीक भी हो रहे हैं। डॉक्टर के अनुसार राजू के दिमा’ग़ के एक हि’स्से को ऑक्सीज़न न मिलने के कार’ण ही उन्हें हो’श नहीं आ रहा है। यही वज’ह है कि उन्हें अब तक अस्प’ताल से छुट्टी नहीं मिली है।

error: Content is protected !!