मुम्बई: मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने एक इंटरव्यू दिया है जिसकी चर्चाएँ सोशल मीडिया पर लगातार हो रही हैं. ये इंटरव्यू उन्होंने टीवी प्रिज़ेंटर ओपरा विनफ्रे को दिया है जिसमें वो ज़िन्दगी से जुड़े कई पहलुओं पर चर्चा कर रही हैं. उन्होंने अपने इंटरव्यू में कई अच्छे और बुरे अनुभवों को साझा किया है.

जहाँ उन्होंने ये बताया कि उनके परिवार में हर धर्म का सम्मान होता था और उनकी परवरिश बहुत अच्छे से हुई वहीं उन्होंने बॉलीवुड के शुरूआती दिनों की मुश्किलें भी साझा कीं. ओपरा से बात करते हुए उन्होंने एक क़िस्सा साझा किया जो कि हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़ा हुआ है. प्रियंका ने बताया कि इंडस्ट्री के शुरूआती दिनों में एक निर्देशक ने उनके साथ बदतमीज़ी की.

उन्होंने कहा कि मुझे ये दुःख है कि तब मैं अपने लिए खड़ी नहीं हुई थी. उन्होंने कहा कि उन्हें ये डर हो गया था कि अगर उन्होंने निर्देशक को कुछ कहा तो उन्हें काम मिलना बंद हो सकता है. प्रियंका ने बताया कि एक गाने की शूट के दौरान उन्हें अपने प्राइ’वेट क’पड़े उतारने को कहा गया था. प्रियंका ने इस घटना के बाद फ़िल्म छोड़ दी, हालाँकि उन्होंने निर्देशक का नाम नहीं बताया.

इस सवाल पर कि इतना कुछ बर्दाश्त करने के बाद आपको दुबारा हिम्मत कैसे मिली तो उन्होंने कहा,”मुझे लगता है कि मेरी परवरिश से जो मेरे माता पिता ने मुझे दी।” एक्ट्रेस ने कहा कि उनके माँ-बाप ने उन्हें हमेशा ही ग़लत के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने के लिए कहा है.

उन्होंने कहा,”मुझे हमेशा गलत के लिए आवाज उठाने के लिए कहा गया। कहा गया कि कभी भी गलत का साथ मत दो। इसलिए मुझे बुरा लगता है कि मैंने उस फिल्ममेकर को कुछ नहीं कहा। मैं उस वक्त इंडस्ट्री में नई थी। तो ऐसे में मैंने सिस्टम के साथ ही काम करने का फैसला लिया। लेकिन ये मेरी जिंदगी की एक ऐसी चीज है जिसपर मुझे दुख है पछतावा है। उसने जो किया वो गलत था। मैं डरी हुई थी लेकिन मैं जानती थी कि मुझे इसे डील कैसे करना है। इसलिए मैंने इस फिल्म से अपने पैर पीछे खींच लिए।”

error: Content is protected !!