बॉलीवुड में कई ऐसी फ़िल्मी कहानियाँ बनती हैं जिनके हम क़ायल हो जाते हैं लेकिन कई बार फ़िल्मी दुनिया से जुड़े लोगों की कहानी भी किसी फ़िल्म से कम नहीं होती। यहाँ कई ऐसे क़िस्से हैं जहाँ शादीशुदा व्यक्ति किसी ऐक्ट्रेस को देखकर अपना दिल और होश खो बैठे और फिर उसके पीछे अपना घर बार भी लुटा दिया। वहीं बहुत से ऐसे लोग भी हैं जिनके दिल टूटने के क़िस्से ज़्यादा मशहूर हैं। आज हम जो क़िस्सा आपको बताने जा रहे हैं वो है बॉलीवुड की पहली सुपरस्टार मानी जाने वाली श्रीदेवी और बोनी कपूर की लव स्टोरी।

बोनी कपूर जब फ़िल्में बनया करते थे तभी से वो शादीशुदा भी थे पत्नी मोना कपूर के साथ उनके दो बच्चे भी थे अर्जुन कपूर और उनकी बहन अंशुला। बोनी ने जब श्रीदेवी को सोलहवाँ सावन फ़िल्म में देखा तभी से वो उनके रूप में बंध गए और ठान लिया कि वो उन्हें अपनी फ़िल्म मिस्टर इंडिया में का’स्ट करेंगे। इस फ़िल्म के लिए बोनी ने श्रीदेवी की माँ से मुलाक़ात की जो कि श्री का सारा काम सम्भालती थीं। बोनी ने कहा कि वो श्रीदेवी को फ़िल्म के 11 लाख देंगे जबकि उस वक़्त श्रीदेवी आठ से साढ़े आठ तक ही चा’र्ज करती थीं। श्री की माँ ने समझा कि बोनी पाग’ल हैं।

Boney Kapoor with Daughters
मिस्टर इंडिया के सेट पर भी श्रीदेवी के लिए सारी सुविधाएँ हुआ करती थीं। इसी दौरान श्रीदेवी की ख़ूबसूरती और सादगी ने बोनी का दिल जीत लिया। बोनी ने ख़ुद एक इंटरव्यू में बताया था कि ” श्रीदेवी अंतर्मुखी थी, उनका काम होते ही वो ख़ुद में सिमट जाती थी लेकिन मुझे सबसे ज़्यादा उसकी मासूमियत भायी। उसे चकाचौंध की कोई परवाह ही नहीं थी। वो मेरे दिल को घेरती चली गयी। मुझे उसका जूनून था जो उससे मिलने के बाद से बढ़ता ही गया। वो एक सुपरस्टार होने के बाद भी सादा थी।”

बोनी ने आगे बताया कि जब उन्होंने श्रीदेवी से प्यार का इज़हार किया तो वो स्तब्ध रह गयी थीं फिर वो उनसे ग़ुस्सा हो गयीं और ह’र्ट भी हो गयीं। यहाँ तक कि उन्होंने बोनी से बातें भी बं’द कर दी थीं। सेट पर भी वो अपने में ही खोयी रहती थीं। वहीं बोनी श्रीदेवी के प्यार में इस क़दर रम गए थे कि उन्होंने अपनी पत्नी मोना कपूर से जाकर ही कह दिया कि वो श्रीदेवी के प्यार में डू’ब चु’के हैं।

Shridevi with Family
इस पर मोना का क्या रीऐ’क्शन था ये तो पता नहीं लेकिन जब 1993 में बम धमाके हुए तो बोनी ने श्रीदेवी को होटल छो’ड़कर अपने घर में रहने की बात कही और आ’ख़िर श्रीदेवी को ये अहसास हुआ कि बोनी उनकी कितनी केयर करते हैं। ये प्यार परवान चढ़ा और आ’ख़िर दोनों 2 जून 1996 में शादी के बं’धन में बं’ध गए। श्रीदेवी और बोनी की दो बेटियाँ हुईं जान्हवी और ख़ुशी, जान्हवी अब फ़िल्मी दुनिया में अपना नाम कमा रही हैं उनकी पहली फ़िल्म आने से पहले ही श्रीदेवी का स्वर्गवास हो गया था।