बॉलीवुड की लैला कही जाने वालीं जीनत अमान का आज है 68 वाँ जन्मदिन। अपने ज़माने में एक बोल्ड और ब्यूटिफ़ुल कही जाने वाली जीनत अमान की किशोरावस्था विदेश में गुज़री थी जब वो मुंबई फ़िल्मी दुनिया में काम करने आ गयी थीं। मिस इंडिया का ख़िताब भी अपने नाम करने के बाद भी उन्हें फ़िल्मों में ख़ास सफलता नहीं मिल रही थी। जब वो वापस जाने को थीं कि उन पर पड़ी देव आनंद की नज़र और वो बन गयीं जेनिस, जी हाँ वही जेनिस जो झूमती है “दम मारो दम” गाते हुए। 
जीनत अमान अपने ज़माने में बोल्ड सीन देकर लोगों के बीच काफ़ी चर्चित हो गयी थीं। ख़ासकर जब उन्होंने राजकपूर की फ़िल्म सत्यम शिवम् सुंदरम में एक सफ़ेद साड़ी में पाँय में भीगते हुए सीन किया था तो उन्हें काफ़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था। ये रोल मिलने की कहानी भी दिलचस्प है। जीनत अमान ने जबसे राधा के किरदार के बारे में सुना था तभी से वो इसे करा चाहती थीं लेकिन राजकपूर अपनी फ़िल्म की हीरोईन चुनने में काफ़ी समय लेते थे। 

आख़िर जीनतअमान ने एक तरकीब निकाली और एक दिन सुबह- सुबह घाघरा- चोली पहनकर दुपट्टा सिर पर ढाँककर पहुँच गयी सीधे राजकपूर के घर और वहाँ जैसे ही किसी ने दरवाज़ा खोला तो जीनत अमान ने कहा “राज साहब से कहिए राधा आयी है” जैसे ही राजकपूर आए और उन्होंने जीनत को इस तरह देखा और रोल के लिए इस तरह डेडिकेशन देखकर उन्हें ये रोल दे दिया।