ये कोरो’ना का’ल बॉलीवुड के लिए काफ़ी भा’री रहा है। देखते ही देखते जाने कितने नामी गि’रामी श’ख़्सियत इस दुनिया से रू’खसत हो गए। लेकिन उससे भी ज़्यादा अफ़वाहों का दौर भी चल निकला, आज की सुबह भी एक ऐसी ही दुः’ख भ’री ख़बर आयी। ख़बर आयी कि फ़ो’र्स, दृश्यम, मदारी, रॉकी हैंडसम जैसी फ़िल्मों के निर्देशक निशिकांत कामत का नि’धन हो गया है। फ़िल्मी सितारों ने ट्वीट करके इस ख़’बर को अफ़’वाह बताया और कहा कि अभी वो लाइफ़ सपो’र्ट सि’स्टम पर हैं। यूँ तो निशिकांत कामत काफ़ी समय से हैद’राबाद के एक अस्प’ताल में भ’र्ती थे जहाँ उनकी हाल’त ग’म्भीर थी फिर भी उनके ठीक होने के आ’सार नज़’र आ रहे थे।

अस्प’ताल की ओर से भी यही बात कही गयी और बताया गया कि उनकी हालत ना’ज़ुक है लेकिन वो अब भी हमारे बीच हैं। सोशल मीडिया में उनके लिए शुभकामनाओं का दौ’र चल निकला है। सभी काम’ना कर रहे हैं कि वो जल्द से जल्द ठीक हो जाएँ। ख़बरों के अनु’सार उन्हें लीवर साई’रोसिस नामक बीमा’री हुई थी जिसके कार’ण उन्होंने लीवर ट्रां’सप्लांट भी करवाया था लेकिन उसके बाद से ही वो बीमा’र रहने लगे। कुछ समय पहले ही उन्हें है’दराबा’द के एक अस्प’ताल में ICU में रखा गया था जहाँ उनकी हाल’त काफ़ी गम्भी’र बतायी गयी थी लेकिन उन्हें ख़’तरे से बाहर बताया गया था।

Nishikant Kamat
आज सुबह उनकी तबि’यत बिग’ड़ी और उन्हें वेंटि’लेटर पर रखा गया। लेकिन अफ़’वाह आ’ख़िर सच में बद’ल गयी, कुछ ही समय पहले निशिकांत इस दुनिया को छो’ड़कर चले गए। 50 साल के निशिकांत कामत को 31 जुलाई को पी’लिया और पेट में द’र्द की शिका’यत के बाद है’दराबा’द में गचीबो’वली स्थित एआईजी में एडमि’ट किया गया था। जहाँ उनमें क्रॅा’निक लीवर डिजी’ज और अन्य संक्र’मणों का पता चला था। निशिकांत कामत न सिर्फ़ हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री बल्कि मराठी फ़िल्म इंडस्ट्री में भी एक च’र्चित नाम रहे हैं, निशिकांत कामत को उनकी फ़िल्म के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चु’का है।