इंडस्ट्री में ये बात अक्सर कही जाती है कि धर्मेंद के बेटे उनकी बहुत इज़्ज़त करते हैं। इस बात को लोगों ने कई बार देखा भी है कि धर्मेंद्र के बेटे सनी और बॉबी अपने पिता को लेकर काफ़ी आदर से बात करते हैं। वो उनके सामने अपनी आँखें भी ऊँची नहीं करते। पिता के बारे में बातें करते हुए सनी की आँखों में तो आँ’सू भी आ जाते हैं। ऐसे में जब बॉबी ने बताया कि एक समय ऐसा था जब वो अपने पिता से नफ़’रत करते थे, तो लोगों को काफ़ी है’रानी हुई।

अपने एक इंटरव्यू में ख़ुद इस बारे में बात करते हुए बॉबी ने बताया था कि एक समय ऐसा भी था जब वो काफ़ी ब’ग़ावती ते’वर में आ गए थे। बॉबी ने बताया कि उन्हें ऐसा लगता था कि बस वो ही सही हैं और वो अपने माता-पिता दोनों की बातें भी नहीं मा’नते थे। बॉबी ने बताया कि उनके बचपन से ही धर्मेंद्र उनसे कम से कम मिल पाते थे क्योंकि वो अपनी शू’ट में हुआ करते थे।

पिता का अक्सर न होना बॉबी को ख’लता था। वहीं जब बॉबी 18 साल के हुए तो वो पहली बार डि’स्को गए और उसके बाद उनके मन में एक बग़ा’वत जा’ग गयी। बॉबी ने बताया कि उन्होंने अपने पिता और माँ की बातों को न मानने की ठान ली थी। बॉबी ने कहा कि उनके मन में मेरे लिए चिं’ता होती थी। ये अलग बात है कि वो मुझे मा’रते या डाँ’टते नहीं थे।

बॉबी ने बताया कि उनके बचपन से ही पिता के साथ कम से कम समय बिता’ने के कार’ण उनके और पिता के बीच एक गै’प बना हुआ था। उम्र का ये प’ड़ाव ऐसा था जब उनके बीच काफ़ी दू’रियाँ आ गयी थीं। वो अपने पिता से काफ़ी दू’र भी हो गए थे। बॉबी ने बताया कि धीरे- धीरे जब वो बड़े होते गए तो उन्हें ये समझ आया कि उनके पिता उनके लिए क्या सो’चते होंगें।

बॉबी ने कहा कि उनके पिता की चिं’ता को वो समझ पाए। वहीं उन्हें बचपन में पिता का दू’र रहने का कार’ण भी समझ आया कि अगर वो काम नहीं करते तो उनका परिवा’र इस तरह से लक्ज़री की ज़िंदगी नहीं जी पाता। बॉबी ने बताया कि इस तरह उनके मन में पिता के लिए बढ़ने वाली नफ़’रत ने द’म तो’ड़ दिया और वो पिता की इज़्ज़त करने लगे।

error: Content is protected !!