सुशांत सिंह राजपूत ने जब 14 जून को अपने घर में ही फाँ’सी लगाकर ख़ुद की जा’न ले ली उसके बाद से ही कई तरह के सवा’ल साम’ने आने लगे। इंडस्ट्री में किसी आउ’टसा’इडर के लिए काम करना कितना मु’श्किल होता है। किस तरह स्टार किड्ज़ को उनके मौ’क़े मिल जाते। हैं जैसे कई सवा’ल साम’ने आने लगे। ख़बरें आयीं कि सुशांत के हाथ से कई प्रोजेक्ट भी निकलते गए जो किसी और को मिलते गए इसके बाद सुशांत को डिप्रे’शन ने घे’रना शुरू किया। उनकी फ़िल्में अगर काम नहीं करती थीं तो इसके लिए उन्हें ही आलो’चना का शि’कार होना पड़ता था।

सुशांत के जा’ने के बाद कई बड़े नामों पर सवा’ल उठे हैं और पूछताछ भी हुई है वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो सुशांत को स’पोर्ट कर रहे हैं। यहाँ तक कि कुछ उनके घर जाकर उनके पापा से मिलकर भी आए लेकिन ऐसे में ही जब शेखर सुमन सुशांत के घर से आने के बाद नेताओं के साथ खाए होकर प्रेस कोनफ़्रेंस की तो उन पर इस माम’ले में राजनीति का पु’ट देने का इल्ज़ा’म लगा। शेखर सुमन ने इस बात को ख़ा’रिज किया लेकिन उन्होंने सुशांत की मौ’त पर जाँ’च की बात कही। शेखर सुमन ने सुशांत को लेकर ग’म्भीर बात भी कही।


Sushant Singh Rajpoot[/caption
शेखर सुमन ने कहा कि सुशांत को किसी से ड’र था या वो किसी को अवॉ’इड कर रहे थे। शेखर ने कहा कि “उसने पिछले महीने करीब 50 सिम कार्ड चें’ज किए। आखिर उसने सिम कार्ड क्यों चें’ज किए? सिम कार्ड कोई क्यों चें’ज करता है, जब वो किसी को अवॉ’इड करने की कोशिश कर रहा हो, किसी से ब’चने की कोशिश कर रहा हो, जब कोई ध’मकी दी जा रही हो, जब कोई ख़ौ’फ़ हो तभी कोई सिम कार्ड चें’ज करता है” इससे पहले सुशांत की फ़िल्म केदारनाथ के डायरेक्टर अभिषेक कपूर ने भी ये बात बतायी थी और कहा था कि केदारनाथ की असफ’लता के साथ मिलने वाली आलोचनाओं ने सुशांत को बद’ल दिया था।