मुम्बई: 2020 एक ऐसा साल है जिसमें अधिकतर ख़बरें बुरी ही आयी हैं. अब ये ख़त्म होने को है तो ख़त्म होते होते भी ये बुरी ख़बरें ही लेकर आ रहा है. मराठी और हिंदी फिल्मों में काम करने वाले दिग्गज अभिनेता रवि पटवर्धन हमें छोड़कर चले गए हैं.रवि पटवर्धन मराठी शो अगाबाई ससुबाई और 80 के दशक में आयी हिंदी फ़िल्में तेज़ाब और अंकुश में अपनी अदाकारी के लिए मशहूर हुए.

शनिवार के रोज़ उनका नि’धन हो गया. उनका निध’न दिल का दौ’रा प’ड़ने से हुआ है. उनके बड़े बेटे निरंजन पटवर्धन ने इस सिलसिले में जानकारी देते हुए बताया कि लगभग 4 दशकों तक हमारा मनोरंजन करने वाले रवि पटवर्धन इस फ़ानी दुनिया को छोड़कर चले गए. बेटे निरंजन पटवर्धन ने बताया कि शाम से ही रवि पटवर्धन को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी जिसके तुरंत बाद उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया.

हॉस्पिटल में उनका इलाज चला लेकिन उनकी सेहत में कोई सुधार नज़र नहीं आया जिसके बाद उनका निध’न हो गया. ख़बरों के मुताबिक़ उन्हें साल के मार्च महीने में भी दिल का दौ’रा पड़ा था लेकिन बाद में वो पूरी तरह ठीक हो गए थे. निरंजन पटवर्धन ने रविवार को समाचार एजेंसी पीटीआई को दिए अपने इंटरव्यू में बताया कि शनिवार की रात 9-9.30 के बीच उनकी तबीयत अचानक से खराब होने लगी जिसके बाद हम उन्हें हॉस्पिटल लेकर गए और आधे घंटे के बाद हमने उन्हें खो दिया. अभिनेता के अंतिम संस्कार को लेकर उनके बेटे ने कहा, ठाणे में दोपहर के आसपास आयोजित किया जाएगा.