मुंबई: बॉलीवुड की कई फ़िल्मों में अपनी अदाकारी का जौहर दिखा चुके वरिष्ठ कलाकार रणजीत चौधरी का 15 अप्रैल के रोज़ नि’धन हो गया. वो 64 साल के थे. उन्होंने कई बड़ी हिट फ़िल्मों में काम किया और बाद में हॉलीवुड फ़िल्मों में भी एक्टिंग की. उनकी जो यादगार फ़िल्में हैं उनमें उनकी रेखा के साथ आयी “ख़ूबसूरत” अहम् है.

इस फ़िल्म में उनके किरदार की भी तारीफ़ हुई थी. उन्होंने खट्टा मीठा में भी अच्छी भूमिका निभाई थी.उन्होंने कई कामयाब सीरियल्स में भी काम किया. सन 1979 में आयी बासु चटर्जी की फ़िल्म ‘खट्टा मीठा’ से उन्होंने फ़िल्मी सफ़र की शुरुआत की थी. वो थिएटर में भी काफ़ी काम कर चुके थे.
फ़िल्म ख़ूबसूरत में उन्होंने राकेश रौशन के भाई का किरदार निभाया था. उनके किरदार को दर्शकों ने सराहा था.

जब वो हॉलीवुड फ़िल्मों में काम करने लगे तो वहाँ भी उनकी पूछ बढ़ी. उन्होंने फ़िल्म ‘सैम एंड मी’ का स्क्रीनप्ले भी लिखा था.इस फ़िल्म को दीपा महता ने डायरेक्ट किया था. उनकी मौ’त का कारण क्या है ये अभी तक पता नहीं चल सका है. चौधरी की मौ’त ऐसे समय पर हुई है जब देश में कोरोना वायरस की वजह से लॉक डाउन है. उनकी माँ एक मशहूर थिएटर आर्टिस्ट थीं.

उनकी माँ का नाम पर्ल पदमसी था और उनके सौतेले पिता अलीक पदमसी भी थिएटर एक्टर हैं. चौधरी की मौ’त सिनेमा जगत के लिए बड़ी क्षति मानी जा सकती है. उनकी मौ’त का कारण क्या है, ये भी जल्द पता लगने की उम्मीद है. हमारी ओर से इस अदाकार को विनम्र श्र’द्धांजलि.