बॉलीवुड में कई बातें ऐसी हैं जो लोगों के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण हैं। वहीं बहुत से ऐसे एक्टर भी होते हैं जो अपने काम ईमानदारी से करते हुए अपना मु’क़ाम बनाते हैं।उन्हें यूँ तो उतनी पहचान नहीं मिलती जितनी उन्हें मिलनी चाहिए। लेकिन वो अक्सर अपने काम से लोगों के मन में अपनी एक जगह बना लेते हैं। ऐसे ही एक एक्टर रहे सलीम घोष।

गुरुवार को 70 साल की उम्र में सलीम घोष ने गुरुवार के दिन अपनी आ’ख़िरी साँ’से लीं।’भारत एक खोज’ जैसे च’र्चित सीरियल का हि’स्सा रहे सलीम घोष को सभी उनके काम के लिए याद कर रहे हैं। उन्होंने कुछ फ़िल्मों में भी काम किया जिनमें उनकी पहली फ़िल्म स्वर्ग न’रक का नाम सबसे ऊपर है। इसके अलावा वो फ़िल्म चरखा, जाहीर हो, मोहन जोशी, चर’खा, सारांश, त्रिका’ल, द्रो’ही आदि फ़िल्मों में भी अपनी छा’प छो’ड़ चु’के हैं।

सलीम घोष को मुंबई में ही हा’र्ट अ’टैक आने आया और वो दुनिया छो’ड़ गये। उनके पीछे परिवार में पत्नी और बच्चे हैं। वो एक थिएटर निर्देशक और अभिनेता थे। वो फ़िल्मों में आने से पहले लम्बे समय से TV से जुड़े रहे हैं। उनके नाम कई शो हैं जैसे भारत एक खोज, जिसमें उन्होंने राम, कृष्ण और टीपू सुल्तान की भूमिका निभायी थी। इसके अलावा वो डबिंग का काम भी किया करते थे।वो वागले की दुनिया जैसे प्रोग्राम में भी नज़र आ चुके हैं।

सलीम घोष के निधन पर पूरी फ़िल्म इंडस्ट्री शोक व्यक्त कर रही है। सभी उनके TV शो भारत एक खोज और सुबह को लेकर अपनी यादें साझा कर रहे हैं। इसके अलावा सलीम घोष को ए’क्स ज़ो’न, ये जो है ज़िंदगी और संविधान जैसी TV शो का हिस्सा रह चुकी हैं। उन्होंने कई अंतर्राष्ट्रीय प्रोजेक्ट में भी काम किया है।

error: Content is protected !!