इन दिनों देश में कोरोना संक्र’मण इस दौ’र में है कि लोग ड’रे हुए हैं। आए दिन कोरोना के मरीज़ों की संख्या ब’ढ़ती जा रही है ऐसे में जब पता चलता है कि किसी को कोरोना ने अपनी च’पेट में ले लिया है तो सुनकर ही मन में ड’र हो जाता है और एक फ़िक्र है कि किसी तरह लोगों के ठीक होने का सिलसि’ला बढ़े। हाल ही में बॉलीवुड के एक ऐक्टर को भी उनके परिवार सहित कोरोना ने अपनी गिर’फ़्त में ले लिया। ये बॉलीवुड ऐक्टर और कोई नहीं बल्कि रॉक ऑन फ़िल्म में फ़रहान अख़्तर के साथ काम करने वाले पूरब कोहली हैं।

पूरब कोहली इन दिनों अपने परिवार के साथ लंदन में रहते हैं। उन्होंने अपने और परिवार के संक्र’मित होने की ख़’बर अपने ही सोशल मीडिया अकाउंट से शे’यर की यही नहीं उन्होंने ये भी बताया कि इस दौ’रान उन्हें कैसा फ़ी’ल हुआ। पूरब ने लिखा, “दोस्तो, हमें आम फ्लू हुआ था। हमने अपने ल’क्षण जनरल फिजि’शियन को बताए तो उन्होंने कहा कि हम कोरोना से संक्र’मित हैं वैसे ये बिल्कुल आम फ़्लू जैसा ही था। फिर भी हमें काफ़ी क’फ था और साँस लेने में भी परे’शानी हो रही थी”


Purab Kohli

पूरब ने आगे लिखा कि ” सबसे पहले मेरी बड़ी बेटी इनाया कि तबि’यत ख़’राब हुई। दो दिन से उसे सर्दी- ज़ु’काम और क’फ था, बाद में मेरी पत्नी लाई पायटेन को भी परे’शानी हुई और उसे सीने में अलग तरह का एह’सास होता रहा। सभी लोग कफ वाले ल’क्षण को लेकर बात’चीत कर रहे थे, इसी बीच मुझे बड़ी ते’ज़ स’र्दी हुई, एक दिन तो वाक़ई ड’रावना था। आगे पूरब ने बताया कि “इसके बाद तीन दिनों तक मुझे क’फ़िंग की सम’स्या रही इतनी कि चि’ड़चिड़ा’हट होती थी। हमें बु’खार भी था पर वो 100 से 101 फ़ैरनहाइट तक ही था पर ओशन को सबसे ज्यादा करीब 104 तक बु’खार च’ढ़ा और तीन रातों तक बना रहा, नाक बहती रही और कफ भी था। बु’खार पूरी तरह उ’तरने में पाँच दिन लग गए।”


Purab Kohli

पूरब ने आगे बताया कि उस दौ’रान उन्होंने कैसे ख़ुद को स’म्भाला। पूरब ने लिखा कि “हम दिन में नमक पानी से करीब चार से पाँच बार गरारा कर रहे थे। अदरक, हल्दी और शहद का मिश्रण वाकई गले के लिए सुकून देने वाला था। सीने में होने वाले कफ और द’र्द से राह’त के लिए गर्म पानी के बॉटल को सीने पर रखने थे और गर्म पानी से नहाकर बुखार में थोड़ा आराम लगता था। इसके अलावा हमने अपना बहुत ध्यान रखा और आराम किया। अभी दो सप्ताह हो चुका है और हमें बाह’र आने की इजा’ज़त है फिर भी हम अभी कुछ रोज़ बाद ही बाह’र आएँगे। अभी भी ऐसा लग रहा है कि शरीर रीक’वर ही कर रहा है”