कोमेडियन भारती सिंह और उनके पति राइटर हर्ष को कल NCB ने छा’पेमारी के बाद गाँ’जा मिलने के कार’ण गिर’फ़्तार किया। जहाँ भारती ने शुरुआती पू’छताछ में ही गाँ’जा लेने की बात स्वीकार कर ली थी वहीं हर्ष को भी 6 घंटे की पू’छताछ के बाद गिर’फ़्तार किया गया। NCB ने ड्र’ग पेड’लर से जा’नकारी मिलने के बाद भारती और हर्ष के अलग-अलग जगहों पर छा’पेमारी की गयी थी। भारती और हर्ष की ऑफ़िस में भी छा’पेमारी हुई थी जहाँ उनके वर्सोवा फ़्लैट से 86.5 ग्राम गाँ’जा ब’रामद हुआ।

गाँ’जा ब’रामद होने के बाद हर्ष और भारती से पू’छताछ हुई और उन्हें गिर’फ़्तार किया गया। हर्ष और भारती की गिर’फ़्तारी पर आज फ़ै’सला आएगा। उन्हें सायन हॉस्पिटल ले जाया गया जहाँ उनका को’विड टे’स्ट किया जाएगा इसके बाद उन्हें अ’दालत ले जाया जाएगा। भारती और हर्ष की पूरी रात NCB की पू’छताछ में ही बीती है। उनके ख़ि’लाफ़ सबू’त होने के कार’ण तुरंत गिर’फ़्तारी का क़द’म उठाया जा सका है। इस बात से दोनों ही परे’शान न’ज़र आ रहे हैं। वहीं बात करें उनकी सम्भा’वित स’ज़ा की तो जितनी मात्रा में गाँ’जा बरा’मद हुआ है उसे देखते हुए ये तय है कि वो सिर्फ़ से’वन के लिए ही रखा गया था।

Bharti singh with her husband
एक किलो से ज़्यादा न’शीला पदार्थ रखने पर इसे सप्लाई के लिए रखा हुआ माना जाता है और इस पर क’ड़ी स’ज़ा हो सकती है जिसमें कुछ सालों की जे’ल और बड़ा जु’र्माना लग सकता है लेकिन भारती और हर्ष के पास एक कि’लो से कम गाँ’जा मिलने के कार’ण वो बड़ी स’ज़ा से ब’च सकते हैं। 1 किलो से क’म न’शीले पदार्थ मिलने की स्थिति में आमतौर पर रिहेबि’लेशन सेंटर भेजा जाता है ताकि न’शे की आद’त से मु’क्ति मिल पाए अगर व्यक्ति तब भी नहीं सुध’रता तो सज़ा का प्रा’वधान है। भारती और हर्ष के मा’मले में क्या फ़ै’सला आता है इस पर हमारी नज़र रहेगी।