लता मंगेशकर को गये हुए अब दो महीने होने को हैं ऐसे में उन्हें याद करते हुए दीनानाथ मंगेशकर सभागृह में उनकी एक तस्वीर लगायी गयी। इस तस्वीर का अ’नाव’रण किया गया तब लता मंगेशकर का पूरा परिवा’र मौजूद था। यही नहीं उनकी बहनों और भाई के अलावा अभिनेता विक्रम गोखले भी मौजूद थे।

विक्रम गोखले ने बताया कि लता मंगेशकर के परिवार से उनका पुराना ना’ता रहा है। लता मंगेशकर के पिता दीनानाथ मंगेशकर से विक्र’म गोखले के पिता संगीत की शिक्षा लिया करते थे। दोनों परिवार का सम्ब’न्ध 70 सालों से भी अधिक का रहा है। विक्रम गोखले ने बताया कि हम उन्हें दीना आबा कहकर बुलाते थे।

वहीं बहन की यादों में डू’बी आशा भोंसले काफ़ी भा’वुक हो गयीं। बहन को याद करते हुए आशा भोंसले ने कहा कि “मैं जब भी कहीं जाती थी तो दीदी का आशीर्वाद लेती थी। वो मुझे कहती थीं कि हमेशा मेरे पैर म’त छु’आ करो। मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ हमेशा है। भले तू यहाँ आए या न आए। माई, बाबा और मैं हमेशा तुम्हारे न’ज़दी’क रहेंगे”।

आशा भोंसले ने आगे बताया कि “अब ऐसा ल’गता है कि उनके जाने के बाद अब किसका आशीर्वाद लूँ। किसे अपनी तकली’फ़ सुनाऊँ। हम बहुत छोटे थे तब बाबा चले गए थे। माई के जाने के बाद एक बा’प बनकर लता दीदी ने हमें सम्भाला। आज उनके जा’ने के बाद हम अना’थ हो गए”।

आशा भोंसले ने बहन लता मंगेशकर को लेकर वो बात कही जो सभी उनके लिए महसू’स करते हैं। उन्होंने कहा कि “सोचा नहीं था कि इतनी जल्दी ये सब हो जाएगा। उन्हें अभी कुछ और सालों तक हमारे साथ रहना चाहिए था”। बहन के प्रति आशा भोंसले का ये भाव उनके फ़ैन्स को भी छू जाएगा। वाक़ई लता मंगेशकर का जाना एक ऐसी क्ष’ति है जिसकी कोई भ’रपा’ई नहीं।

error: Content is protected !!