बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख़ ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान से संबंधित ड्र’ग केस में NCB की ओर से गठित SIT ने मुम्बई सेशन कोर्ट से आग्रह किया है कि उसे चार्जशीट फ़ाइल करने के लिए 90 दिन का अतिरिक्त समय दिया जाए।

आर्यन ख़ान केस में अब तक चार्जशीट फ़ाइल नहीं हुई है और इस तरह की ख़बरें भी मीडिया में आ चुकी हैं कि NCB के पास आर्यन ख़ान के ख़िलाफ़ कोई सुबूत नहीं है। चार्जशीट फ़ाइल करने के लिए अतिरिक्त दिनों की माँग भी इसी ओर इशारा करती है।

इसके पहले जब मीडिया में ऐसी रिपोर्ट्स आयीं कि SIT ने अपनी जाँच लगभग पूरी कर ली है लेकिन आर्यन के ख़िलाफ़ कोई सुबूत उसे नहीं मिला है। आर्यन और शाहरुख़ परिवार के लिए ये बड़ी राहत की ख़बर थी। अब SIT की ओर से अतिरिक्त समय की माँग आर्यन के मामले में अतिरिक्त समय लगा सकती है।

आपको बता दें कि आर्यन ख़ान केस में SIT को चार्जशीट 2 अप्रैल तक जमा करनी थी। पिछले साल 2 अक्टूबर को आर्यन ख़ान समेत कई लोगों को NCB ने ड्र’ग सप्लाई करने के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार किया था। NCB की ये कार्यवाई तब सवालों के घेरे में आ गई जब इस केस के एक गवाह ने हिरासत के दौरान आर्यन ख़ान के साथ सेल्फ़ी खिंचवाई।

इसके बाद जब मुख्य पंच ने NCB अधिकारियों पर गाम्भीर आरोप लगाए तो मामला राजनीतिक हो गया। NCB अधिकारी समीर वानखेड़े पर आर्यन ख़ान से फ़िरौती तक माँगने के आरोप लगे। समीर वानखेड़े के बारे में इसके बाद कई बातें मीडिया में आईं।

वरिष्ठ NCP नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े से संबंधित कई ऐसे तथ्य पेश किए जिसके बाद NCB की पूरी कार्यवाई फ़िल्मी लगने लगी।

बॉम्बे हाई कोर्ट ने आर्यन ख़ान और अन्य को ज़मानत पर रिहा किया। साथ ही अदालत ने माना कि आर्यन ख़ान के पास से कोई ड्र’ग्स बरामद नहीं हुई थी।

error: Content is protected !!