अमिताभ बच्चन आज के समय में फिल्म इंड’स्ट्री का जा’ना माना नाम है। उनकी पॉपुलै’रिटी की च’र्चा देश विदेश में होती रहती है। लगभग पूरी दुनिया में ही अमिताभ बच्चन के लाखों करो’ड़ों फ़ैन मौजूद हैं। सदी के महाना’यक अमिताभ बच्चन की सफलता को तो हर कोई जा’नता है, लेकिन इसके पीछे का सं’घर्ष और उनके परिवा’र के बारे में लोग काफी कम ही जानते हैं। यूं तो आपने अक्सर लोगों से कहते सुना होगा कि हर सफल आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है, लेकिन यहां इस कहा’वत से बिल्कुल विप’रीत होता न’जर आया।

यहां अमिताभ की सफलता के पीछे उनकी मेहनत के साथ- साथ उनके छोटे भाई अजिताभ का भी बड़ा हाथ है। अजिताभ एक बिजनेसमैन के तौ’र पर जाने जाते हैं। अजिताभ अमिताभ बच्चन से 5 साल छोटे हैं। अमिताभ बच्चन पर लिखी प्रदीप चंद्रा की किताब ‘ए बी द लीजें’डः फोटोग्रा’फर्स ट्रि’ब्यूट’ में इस बात पर रो’शनी डा’ली गई है। उस वक़्त के ना’टकों का जाना-माना नाम डॉली ठाकुर ने इस किताब में बताया है कि अमिताभ बच्चन की जगह अजिताभ ही ज़्यादा तर पा’र्टीज को अटें’ड करते थे। श’र्मीले और खामो’श मिज़ा’ज के अजिताभ पार्टीज में जाकर एक कोने में बै’ठ जाया करते थे।

Amitabh Bacchan and Ajitabh Bacchan
अमिताभ बच्चन की तरह ही अजिताभ ने भी नैनीताल के शे’रवुड कॉलेज से अपनी पढ़ाई पूरी की थी और उन्हें बिजनेस में काफी इंटरे’स्ट था। इसी के चलते उन्होंने लगभग 15 सालों तक लंदन में रहकर बिजनेस पर ज़ो’र दिया। इतना ही नहीं बल्कि उनकी पत्नी रमोला ने भी उनकी काफी म’दद की थी। दिलचस्प बात यह थी कि उनकी पत्नी रमोला भी एक जानी मानी सो’शलिस्ट और बिजने’स वुमन हैं। अजिताभ का पूरा परिवा’र लंदन में ही ज़िंदगी बस’र कर रहा था, लेकिन साल 2007 में अमिताभ और अजिताभ बच्चन की मां तेजी बच्चन की मौ’त के बाद वह इंडिया शि’फ्ट हो गए और अपने बेटे और तीन बेटियों के साथ यहीं रहने लगे।

भले ही अमिताभ और उनके भाई अजिताभ अपने अपने कामों में खासा बि’जी रहते हैं, लेकिन फिर भी दोनों परिवारों में खूब प्यार देखा गया है। एक इंट’रव्यू में अमिताभ बच्चन की फिल्म पर बात करते हुए अजिताभ की पत्नी रमोला ने बताया था कि जब भी अमिताभ और हमारा परिवा’र मिलता है तो खूब एंज्वॉय करता है। अजिताभ और उनकी पत्नी रमोला अमिताभ बच्चन की सभी फिल्में देखते हैं। शो’ले और दीवार उनकी फेव’रेट है। अजिताभ बच्चन की बेटी नैना बच्चन की शादी बॉलीवुड अभिनेता कुणाल कपूर से हुई है, जो फ़िल्म रंग दे बसंती, आज नच ले, लव शव ते चि’कन खु’राना में नज़’र आ चु’के हैं।