आलिया भट्ट का फ़िल्मी करियर जब शुरू हुआ था तो लोगों ने उसे कारण जौहर की फ़िल्म की हीरोईन का टैग दिया था सभी को ये लगा था कि वो केवल छोटे कपड़े पहनकर, हीरो के पीछे डान्स करती रह जाएँगी। लेकिन आलिया ने अपने फ़िल्मी करियर में कई ऐसे चैलेंजिंग रोल्स लिए और उन्हें बेहतरीन ढंग से निभाया कि न सिर्फ़ बॉलीवुड में उनकी तारीफ़ हुई बल्कि लोगों ने उनके ऐक्टिंग के हुनर को भी मान दिया।

आलिया ने अपने फ़िल्मी करियर में हर तरह के किरदार निभाए हैं फिर चाहे वो मसाला फ़िल्में हों या फिर गम्भीर भूमिका आलिया हर किरदार में जान डालने में सक्षम हुई हैं। यही नहीं वो अपने दम पर फ़िल्म खींचने में भी सफल हुई हैं। ऐसे में जब इन दिनों बॉलीवुड में बराबरी की बातें हो रही हैं जहाँ ये मुद्दा उठ रहा है कि हीरोईंस को भी किसी हीरो के जितनी फ़ीस मिलनी चाहिए। इस विषय पर आलिया का अन्दाज़ जुदा है।

आलिया का कहना है कि अगर हीरोईंस को बराबर फ़ीस चाहिए तो उन्हें वो दम दिखाना होगा जो हीरोज़ का होता है। अगर आपकी एंट्री पर भी उतनी ही तालियाँ बजती हैं जितनी एक हीरो की एंट्री पर बजती हैं तो इसका मतलब है कि आपको देखकर लोगों को पैसा वसूल वाली फ़ील आती है।

अगर ऐसा होता है तभी आप अपने दम पर फ़िल्म को हिट कर सकते हैं, जो हीरोईंस ऐसा कर पाती हैं उन्हें पूरा हक़ है कि उन्हें बराबर फ़ीस मिले लेकिन अगर आप हीरो के पीछे शेडो की तरह हैं तो बराबर फ़ीस डिमांड करना सही नहीं है। तो इसे आलिया का दूसरी हीरोईंस को चैलेंज माना जा सकता है कि वो अपने दम पर फ़िल्में चलाकर दिखाएँ। बॉलीवुड की लेटेस्ट खबरों के लिए जुड़े रहिए चुग़लीबाज़ के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *