म्यूजिक की दुनिया में आपने कई संगीतकारों का नाम सुना होगा। लेकिन जिस तरह का नाम आरडी बर्मन ने बनाया वैसा नाम आज तक कोई और संगीतकार नहीं बना पाया है। आरडी बर्मन एक ऐसे संगीतकार थे जिनकी धुन पर बॉलीवुड का एक से बड़ा एक कलाकार नाचा है।

आज वर्ल्ड म्यूजिक डे है, इस खास मौके पर हम आपको भारत के सबसे बड़े संगीतकार आरडी बर्मन और उनके पिता एसडी बर्मन के बारे में एक किस्सा सुनने जा रहे हैं। ये किस्सा तब का है जब आरडी बर्मन महज 9 साल के थे।

बता दें कि 9 साल की उम्र में ही आरडी बर्मन ने कई धुन बना ली थीं। जिसमें से एक धुन उनके पिता एसडी बर्मन में अपनी फिल्म में इस्तेमाल कर ली थी। जिसको लेकर वह अपने पिता से काफी ना’रा’ज़ हो गए थे। दरअसल, ये बात तब की है जब आरडी बर्मन कोलकाता में रहकर अपनी स्कूलिंग कर रहे थे और एसडी बर्मन मुंबई में अपने म्यूजिक को लोगों के कानों तक पहुंचा रहे थे।

इस दौरान आरडी बर्मन का स्कूल का रिजल्ट काफी ख’राब रहा था, जिसकी खबर लगने पर उनके पिता एसडी बर्मन मुंबई में अपना काम छो’ड़ उनसे मिलने कोलकाता आ गए थे। यहां आकर उन्होंने बेटे आरडी बर्मन को काफी डां’ट मा’री थी और अपनी बातों को ख’त्म करते हुए उन्होंने आरडी बर्मन से पूछा था कि वह क्या बनना चाहते है.? इसके जवाब में उन्होंने संगीतकार कहा।

ये बात सुनकर वह कुछ देर तो चुप हो गए और फिर आरडी बर्मन से पूछा कि अब तक उन्होंने कोई धुन तैयार की या नहीं। तब आरडी बर्मन ने बताया कि उन्होंने एक नहीं बल्कि 9 धुन बना रखी हैं। जिसको एक एक कर के उन्होंने अपने पिता को सुनाया। धुन सुनने के बाद उनके पिता मुंबई वापस चले आए और फिर अचानक एक फिल्म में आरडी बर्मन को अपनी बनाई हुई धुन सुनाई दी। जिसपर उन्होंने अपने पिता पर काफी गु’स्सा किया।

उनका कहना था कि उनके पिता ने उनकी बनाई हुई धुन को चु’राया है। जिसके जवाब में उनके पिता एसडी बर्मन ने कहा कि “वो देखना चाहते थे कि लोगों को उनकी बनाई धुन पसंद आती भी है या नहीं।” पिता का ये जवाब सुनकर आरडी बर्मन भी खामोश रह गए। जिसके बाद उन्होंने म्यूजिक की दुनिया में ही अपना करियर बनाया। उन्होंने साल 1959 में अपने करियर की शुरुआत की और करियर ख’त्म होने तक उन्होंने बॉलीवुड की 331 फिल्मों में अपना संगीत दिया।